Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Jun 2023 · 1 min read

विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून 2023

टूट रही सांसों की डोरी, पर्यावरण हुआ बेहाल रे
जल जंगल जमीन बचाओ, धरती का रखो ख्याल रे
काट दिए जंगल दुनिया में, नदियों में जहर वहाया
हवा प्रदूषित हुई धरा पर, जीवो का हुआ सफाया
डूब रही है जीवन नैया, उठ कर इसे संभाल रे
तापमान बढ़ रहा दिनोंदिन, ओजोन परत में छेद हुआ
पिघल रहे हैं ग्लेशियर सारे, घुलने को मजबूर हुआ
पानी नहीं बचेगा जग में, दुनिया होगी बेहाल रे
मौसम बदल रहा दुनिया में, प्रकृति पर संकट आया
बेहतासा दोहन से हमने, संकट और बढ़ाया
जिस डाली पर बैठी दुनिया, काट ना बंधु डाल रे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी

Language: Hindi
1 Like · 653 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेश कुमार चतुर्वेदी
View all
You may also like:
नर से नारायण
नर से नारायण
Pratibha Pandey
- दीवारों के कान -
- दीवारों के कान -
bharat gehlot
ग़ज़ल
ग़ज़ल
कवि रमेशराज
गरीबों की शिकायत लाजमी है। अभी भी दूर उनसे रोशनी है। ❤️ अपना अपना सिर्फ करना। बताओ यह भी कोई जिंदगी है। ❤️
गरीबों की शिकायत लाजमी है। अभी भी दूर उनसे रोशनी है। ❤️ अपना अपना सिर्फ करना। बताओ यह भी कोई जिंदगी है। ❤️
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
Try to find .....
Try to find .....
पूर्वार्थ
*Khus khvab hai ye jindagi khus gam ki dava hai ye jindagi h
*Khus khvab hai ye jindagi khus gam ki dava hai ye jindagi h
Vicky Purohit
3645.💐 *पूर्णिका* 💐
3645.💐 *पूर्णिका* 💐
Dr.Khedu Bharti
चला मुरारी हीरो बनने ....
चला मुरारी हीरो बनने ....
Abasaheb Sarjerao Mhaske
मेरा आसमां 🥰
मेरा आसमां 🥰
DR ARUN KUMAR SHASTRI
न हम नजर से दूर है, न ही दिल से
न हम नजर से दूर है, न ही दिल से
Befikr Lafz
#व्यंग्य-
#व्यंग्य-
*प्रणय प्रभात*
काश तुम आती मेरी ख़्वाबों में,
काश तुम आती मेरी ख़्वाबों में,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
रात स्वप्न में दादी आई।
रात स्वप्न में दादी आई।
Vedha Singh
दोहा-विद्यालय
दोहा-विद्यालय
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
* संसार में *
* संसार में *
surenderpal vaidya
झुकना होगा
झुकना होगा
भरत कुमार सोलंकी
श्रमिक
श्रमिक
Neelam Sharma
प्रेम गजब है
प्रेम गजब है
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
भीरू नही,वीर हूं।
भीरू नही,वीर हूं।
Sunny kumar kabira
शयनकक्ष श्री हरि चले, कौन सँभाले भार ?।
शयनकक्ष श्री हरि चले, कौन सँभाले भार ?।
डॉ.सीमा अग्रवाल
"चाह"
Dr. Kishan tandon kranti
डिग्रियों का कभी अभिमान मत करना,
डिग्रियों का कभी अभिमान मत करना,
Ritu Verma
शीत .....
शीत .....
sushil sarna
भाथी के विलुप्ति के कगार पर होने के बहाने / MUSAFIR BAITHA
भाथी के विलुप्ति के कगार पर होने के बहाने / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
आज की राजनीति
आज की राजनीति
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बिना दूरी तय किये हुए कही दूर आप नहीं पहुंच सकते
बिना दूरी तय किये हुए कही दूर आप नहीं पहुंच सकते
Adha Deshwal
*प्रभु पर विश्वास करो पूरा, वह सारा जगत चलाता है (राधेश्यामी
*प्रभु पर विश्वास करो पूरा, वह सारा जगत चलाता है (राधेश्यामी
Ravi Prakash
*An Awakening*
*An Awakening*
Poonam Matia
मन में रख विश्वास,
मन में रख विश्वास,
Anant Yadav
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
Loading...