Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Jul 2023 · 1 min read

*वधू (बाल कविता)*

वधू (बाल कविता)

वधू ब्याहने वर को आती
सुंदर-सी जयमाला लाती
साड़ी पहने बहुत सुहाती
सखी संग मंगलधुन गाती
वर के संग वधू जाएगी
नई सृष्टि यह कहलाएगी

रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

346 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
ईश्वर का घर
ईश्वर का घर
Dr MusafiR BaithA
पतझड़ के मौसम हो तो पेड़ों को संभलना पड़ता है
पतझड़ के मौसम हो तो पेड़ों को संभलना पड़ता है
कवि दीपक बवेजा
*सवा लाख से एक लड़ाऊं ता गोविंद सिंह नाम कहांउ*
*सवा लाख से एक लड़ाऊं ता गोविंद सिंह नाम कहांउ*
Harminder Kaur
जीवन में
जीवन में
ओंकार मिश्र
I am Cinderella
I am Cinderella
Kavita Chouhan
बरखा रानी तू कयामत है ...
बरखा रानी तू कयामत है ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
मोतियाबिंद
मोतियाबिंद
Surinder blackpen
बसंत पंचमी
बसंत पंचमी
Neeraj Agarwal
मेरी जीत की खबर से ऐसे बिलक रहे हैं ।
मेरी जीत की खबर से ऐसे बिलक रहे हैं ।
Phool gufran
हिंदी सबसे प्यारा है
हिंदी सबसे प्यारा है
शेख रहमत अली "बस्तवी"
।।श्री सत्यनारायण व्रत कथा।।प्रथम अध्याय।।
।।श्री सत्यनारायण व्रत कथा।।प्रथम अध्याय।।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"ढाई अक्षर प्रेम के"
Ekta chitrangini
परिंदा
परिंदा
VINOD CHAUHAN
मैंने जिसे लिखा था बड़ा देखभाल के
मैंने जिसे लिखा था बड़ा देखभाल के
Shweta Soni
अर्थी पे मेरे तिरंगा कफ़न हो
अर्थी पे मेरे तिरंगा कफ़न हो
Er.Navaneet R Shandily
दीपों की माला
दीपों की माला
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
अनगढ आवारा पत्थर
अनगढ आवारा पत्थर
Mr. Rajesh Lathwal Chirana
क्षणिका
क्षणिका
sushil sarna
पहले मैं इतना कमजोर था, कि ठीक से खड़ा भी नहीं हो पाता था।
पहले मैं इतना कमजोर था, कि ठीक से खड़ा भी नहीं हो पाता था।
SPK Sachin Lodhi
प्रश्न - दीपक नीलपदम्
प्रश्न - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मुश्किल से मुश्किल हालातों से
मुश्किल से मुश्किल हालातों से
Vaishaligoel
जय शिव शंकर ।
जय शिव शंकर ।
Anil Mishra Prahari
"लोकतंत्र में"
Dr. Kishan tandon kranti
दूर किसी वादी में
दूर किसी वादी में
Shekhar Chandra Mitra
वगिया है पुरखों की याद🙏
वगिया है पुरखों की याद🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
स्त्री यानी
स्त्री यानी
पूर्वार्थ
■सस्ता उपाय■
■सस्ता उपाय■
*Author प्रणय प्रभात*
नीर क्षीर विभेद का विवेक
नीर क्षीर विभेद का विवेक
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
*शीत वसंत*
*शीत वसंत*
Nishant prakhar
चिट्ठी   तेरे   नाम   की, पढ लेना करतार।
चिट्ठी तेरे नाम की, पढ लेना करतार।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
Loading...