Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Mar 2024 · 1 min read

वक्त आने पर भ्रम टूट ही जाता है कि कितने अपने साथ है कितने न

वक्त आने पर भ्रम टूट ही जाता है कि कितने अपने साथ है कितने नहीं ll

62 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
23/193. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/193. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
।। सुविचार ।।
।। सुविचार ।।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
"बदलते भारत की तस्वीर"
पंकज कुमार कर्ण
वाह भाई वाह
वाह भाई वाह
gurudeenverma198
प्यार का पंचनामा
प्यार का पंचनामा
Dr Parveen Thakur
"जेब्रा"
Dr. Kishan tandon kranti
नवम दिवस सिद्धिधात्री,
नवम दिवस सिद्धिधात्री,
Neelam Sharma
नेता जब से बोलने लगे सच
नेता जब से बोलने लगे सच
Dhirendra Singh
जिसके मन तृष्णा रहे, उपजे दुख सन्ताप।
जिसके मन तृष्णा रहे, उपजे दुख सन्ताप।
अभिनव अदम्य
है शिव ही शक्ति,शक्ति ही शिव है
है शिव ही शक्ति,शक्ति ही शिव है
sudhir kumar
तेरे हम है
तेरे हम है
Dinesh Kumar Gangwar
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बुरा नहीं देखेंगे
बुरा नहीं देखेंगे
Sonam Puneet Dubey
#लघुकथा-
#लघुकथा-
*प्रणय प्रभात*
दोहा पंचक. . . .
दोहा पंचक. . . .
sushil sarna
भारत बनाम इंडिया
भारत बनाम इंडिया
Harminder Kaur
*दादाजी (बाल कविता)*
*दादाजी (बाल कविता)*
Ravi Prakash
समीक्षा- रास्ता बनकर रहा (ग़ज़ल संग्रह)
समीक्षा- रास्ता बनकर रहा (ग़ज़ल संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
पुरुष चाहे जितनी बेहतरीन पोस्ट कर दे
पुरुष चाहे जितनी बेहतरीन पोस्ट कर दे
शेखर सिंह
एक समझदार मां रोते हुए बच्चे को चुप करवाने के लिए प्रकृति के
एक समझदार मां रोते हुए बच्चे को चुप करवाने के लिए प्रकृति के
Dheerja Sharma
Raksha Bandhan
Raksha Bandhan
Sidhartha Mishra
रंजिश हीं अब दिल में रखिए
रंजिश हीं अब दिल में रखिए
Shweta Soni
अच्छे   बल्लेबाज  हैं,  गेंदबाज   दमदार।
अच्छे बल्लेबाज हैं, गेंदबाज दमदार।
गुमनाम 'बाबा'
जिंदगी का कागज...
जिंदगी का कागज...
Madhuri mahakash
Don't pluck the flowers
Don't pluck the flowers
VINOD CHAUHAN
Scattered existence,
Scattered existence,
पूर्वार्थ
सच तो रोशनी का आना हैं
सच तो रोशनी का आना हैं
Neeraj Agarwal
माता- पिता
माता- पिता
Dr Archana Gupta
बिटिया  घर  की  ससुराल  चली, मन  में सब संशय पाल रहे।
बिटिया घर की ससुराल चली, मन में सब संशय पाल रहे।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
Loading...