Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Apr 2024 · 1 min read

“ला-ईलाज”

“ला-ईलाज”
हुस्न वालों को दिल ना दो
ये मिटा देते हैं,
उम्र भर के लिए रोग लाईलाज
लगा देते हैं।

1 Like · 1 Comment · 29 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
दुःख  से
दुःख से
Shweta Soni
शिकवा
शिकवा
अखिलेश 'अखिल'
दो सहोदर
दो सहोदर
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
❤️ मिलेंगे फिर किसी रोज सुबह-ए-गांव की गलियो में
❤️ मिलेंगे फिर किसी रोज सुबह-ए-गांव की गलियो में
शिव प्रताप लोधी
संस्कारों का चोला जबरजस्ती पहना नहीं जा सकता है यह
संस्कारों का चोला जबरजस्ती पहना नहीं जा सकता है यह
Sonam Puneet Dubey
Hey....!!
Hey....!!
पूर्वार्थ
मातृभाषा हिन्दी
मातृभाषा हिन्दी
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
*Colors Of Experience*
*Colors Of Experience*
Poonam Matia
2326.पूर्णिका
2326.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
ज़िंदगी तुझको
ज़िंदगी तुझको
Dr fauzia Naseem shad
भौतिक युग की सम्पदा,
भौतिक युग की सम्पदा,
sushil sarna
काफिला
काफिला
Amrita Shukla
हसीब सोज़... बस याद बाक़ी है
हसीब सोज़... बस याद बाक़ी है
अरशद रसूल बदायूंनी
धनतेरस जुआ कदापि न खेलें
धनतेरस जुआ कदापि न खेलें
कवि रमेशराज
जिन्दा हो तो,
जिन्दा हो तो,
नेताम आर सी
ज़िन्दगी में सफल नहीं बल्कि महान बनिए सफल बिजनेसमैन भी है,अभ
ज़िन्दगी में सफल नहीं बल्कि महान बनिए सफल बिजनेसमैन भी है,अभ
Rj Anand Prajapati
हे आशुतोष !
हे आशुतोष !
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
"मैं मजदूर हूँ"
Dr. Kishan tandon kranti
প্রশ্ন - অর্ঘ্যদীপ চক্রবর্তী
প্রশ্ন - অর্ঘ্যদীপ চক্রবর্তী
Arghyadeep Chakraborty
*आऍं-आऍं राम इस तरह, भारत में छा जाऍं (गीत)*
*आऍं-आऍं राम इस तरह, भारत में छा जाऍं (गीत)*
Ravi Prakash
बदचलन (हिंदी उपन्यास)
बदचलन (हिंदी उपन्यास)
Shwet Kumar Sinha
तू जब भी साथ होती है तो मेरा ध्यान लगता है
तू जब भी साथ होती है तो मेरा ध्यान लगता है
Johnny Ahmed 'क़ैस'
जिंदगी में हर पल खुशियों की सौगात रहे।
जिंदगी में हर पल खुशियों की सौगात रहे।
Phool gufran
धोखा वफा की खाई है हमने
धोखा वफा की खाई है हमने
Ranjeet kumar patre
नीला सफेद रंग सच और रहस्य का सहयोग हैं
नीला सफेद रंग सच और रहस्य का सहयोग हैं
Neeraj Agarwal
मासी की बेटियां
मासी की बेटियां
Adha Deshwal
तो क्या हुआ
तो क्या हुआ
Sûrëkhâ
"" *रिश्ते* ""
सुनीलानंद महंत
कैसा फसाना है
कैसा फसाना है
Dinesh Kumar Gangwar
बाबा साहब अंबेडकर का अधूरा न्याय
बाबा साहब अंबेडकर का अधूरा न्याय
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Loading...