Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jan 2024 · 1 min read

लहसुन

खाने से लहसुन कई, मिट जाते हैं रोग।
औषधियों में श्रेष्ठ है, कहते हैं सब लोग।
कहते हैं सब लोग, शुगर, बीपी, मोटापा।
चाहे पक्षाघात, वात के मम्मी पापा।
डरते सभी विकार, सत्य है सोलह आने।
देता जीवन दान, चला मैं लहसुन खाने।।

– आकाश महेशपुरी
दिनांक- 25/01/2024

67 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*मंदोदरी (कुंडलिया)*
*मंदोदरी (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
बसंत (आगमन)
बसंत (आगमन)
Neeraj Agarwal
दिल की भाषा
दिल की भाषा
Ram Krishan Rastogi
प्रथम मिलन
प्रथम मिलन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कृष्ण चतुर्थी भाद्रपद, है गणेशावतार
कृष्ण चतुर्थी भाद्रपद, है गणेशावतार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Jeevan ke is chor pr, shanshon ke jor pr
Jeevan ke is chor pr, shanshon ke jor pr
Anu dubey
काजल
काजल
SHAMA PARVEEN
ज्ञान से शिक्षित, व्यवहार से अनपढ़
ज्ञान से शिक्षित, व्यवहार से अनपढ़
पूर्वार्थ
सीख लिया मैनै
सीख लिया मैनै
Seema gupta,Alwar
Tumhe Pakar Jane Kya Kya Socha Tha
Tumhe Pakar Jane Kya Kya Socha Tha
Kumar lalit
सब छोड़ कर चले गए हमें दरकिनार कर के यहां
सब छोड़ कर चले गए हमें दरकिनार कर के यहां
VINOD CHAUHAN
विक्रमादित्य के बत्तीस गुण
विक्रमादित्य के बत्तीस गुण
Vijay Nagar
*
*"जन्मदिन की शुभकामनायें"*
Shashi kala vyas
मां, तेरी कृपा का आकांक्षी।
मां, तेरी कृपा का आकांक्षी।
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
जब अपनी बात होती है,तब हम हमेशा सही होते हैं। गलत रहने के बा
जब अपनी बात होती है,तब हम हमेशा सही होते हैं। गलत रहने के बा
Paras Nath Jha
मेरी हस्ती
मेरी हस्ती
Shyam Sundar Subramanian
जिंदगी और उलझनें, सॅंग सॅंग चलेंगी दोस्तों।
जिंदगी और उलझनें, सॅंग सॅंग चलेंगी दोस्तों।
सत्य कुमार प्रेमी
सबला नारी
सबला नारी
आनन्द मिश्र
ताशीर
ताशीर
Sanjay ' शून्य'
क्या कहना हिन्दी भाषा का
क्या कहना हिन्दी भाषा का
shabina. Naaz
वैशाख का महीना
वैशाख का महीना
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
2746. *पूर्णिका*
2746. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
इत्र, चित्र, मित्र और चरित्र
इत्र, चित्र, मित्र और चरित्र
Neelam Sharma
जीवन के पल दो चार
जीवन के पल दो चार
Bodhisatva kastooriya
संघर्ष ज़िंदगी को आसान बनाते है
संघर्ष ज़िंदगी को आसान बनाते है
Bhupendra Rawat
शिव-स्वरूप है मंगलकारी
शिव-स्वरूप है मंगलकारी
कवि रमेशराज
■ सोच लेना...
■ सोच लेना...
*Author प्रणय प्रभात*
భారత దేశ వీరుల్లారా
భారత దేశ వీరుల్లారా
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
मुस्कुराते रहे
मुस्कुराते रहे
Dr. Sunita Singh
"फासला और फैसला"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...