Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Apr 2024 · 1 min read

“रेल चलय छुक-छुक”

“रेल चलय छुक-छुक”
रेल चलय छुक-छुक
धुआँ निकलय भुक-भुक।
रेल म बइठे बड़का दाई
रेंगत दिखय रुख-राई
हिरदे धड़कय धुक-धुक,
रेल चलय छुक-छुक।

1 Like · 1 Comment · 40 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
"बेकसूर"
Dr. Kishan tandon kranti
परों को खोल कर अपने उड़ो ऊँचा ज़माने में!
परों को खोल कर अपने उड़ो ऊँचा ज़माने में!
धर्मेंद्र अरोड़ा मुसाफ़िर
समय को समय देकर तो देखो, एक दिन सवालों के जवाब ये लाएगा,
समय को समय देकर तो देखो, एक दिन सवालों के जवाब ये लाएगा,
Manisha Manjari
अंधेरे का डर
अंधेरे का डर
ruby kumari
मुक्तक – रिश्ते नाते
मुक्तक – रिश्ते नाते
Sonam Puneet Dubey
सिलसिले..वक्त के भी बदल जाएंगे पहले तुम तो बदलो
सिलसिले..वक्त के भी बदल जाएंगे पहले तुम तो बदलो
पूर्वार्थ
गलतियां
गलतियां
Dr Parveen Thakur
इक दुनिया है.......
इक दुनिया है.......
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
झुग्गियाँ
झुग्गियाँ
नाथ सोनांचली
राजसूय यज्ञ की दान-दक्षिणा
राजसूय यज्ञ की दान-दक्षिणा
*प्रणय प्रभात*
दूसरा मौका
दूसरा मौका
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
मुझ पे एहसान वो भी कर रहे हैं
मुझ पे एहसान वो भी कर रहे हैं
Shweta Soni
आँशु उसी के सामने बहाना जो आँशु का दर्द समझ सके
आँशु उसी के सामने बहाना जो आँशु का दर्द समझ सके
Rituraj shivem verma
तुम कभी यह चिंता मत करना कि हमारा साथ यहाँ कौन देगा कौन नहीं
तुम कभी यह चिंता मत करना कि हमारा साथ यहाँ कौन देगा कौन नहीं
Dr. Man Mohan Krishna
राम से जी जोड़ दे
राम से जी जोड़ दे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कृष्ण भक्ति
कृष्ण भक्ति
लक्ष्मी सिंह
दर-बदर की ठोकरें जिन्को दिखातीं राह हैं
दर-बदर की ठोकरें जिन्को दिखातीं राह हैं
Manoj Mahato
वादी ए भोपाल हूं
वादी ए भोपाल हूं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
2877.*पूर्णिका*
2877.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"देश भक्ति गीत"
Slok maurya "umang"
क्षणिका
क्षणिका
sushil sarna
आशा
आशा
नवीन जोशी 'नवल'
ग़ज़ल (मिलोगे जब कभी मुझसे...)
ग़ज़ल (मिलोगे जब कभी मुझसे...)
डॉक्टर रागिनी
सत्याधार का अवसान
सत्याधार का अवसान
Shyam Sundar Subramanian
Activities for Environmental Protection
Activities for Environmental Protection
अमित कुमार
करनी का फल
करनी का फल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मासूमियत की हत्या से आहत
मासूमियत की हत्या से आहत
Sanjay ' शून्य'
जल बचाओ , ना बहाओ
जल बचाओ , ना बहाओ
Buddha Prakash
*नहीं फेंके अब भोजन (कुंडलिया)*
*नहीं फेंके अब भोजन (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
शरीर मोच खाती है कभी आपकी सोच नहीं यदि सोच भी मोच खा गई तो आ
शरीर मोच खाती है कभी आपकी सोच नहीं यदि सोच भी मोच खा गई तो आ
Rj Anand Prajapati
Loading...