Oct 13, 2016 · 1 min read

राजयोग महागीता “” गुरुक्तानुभव” ( घनाक्षरी) पो ६

हमारे ज्ञान की न तृष्णा समाप्त हुई ,
ज्ञान – प्राप्ति का उपाय हमको बताइये ।
कैसे करूँ अनुसंधान शाश्वत मार्ग का मैं ,
वीतराग का उपाय हमें समझाइये
सकल समस्याओं का हल क्या है, गुरुवर !
मोक्ष – प्राप्ति का उपाय हमें बतियाइये ।
राजा जनक पूँछते हैं मुनि अष्टावक्र से ,
सुधा- प्राप्ति का उपाय हमको सुनाइए।।अध्याय १/ १!
—— जितेन्द्रकमल आनंद

89 Views
You may also like:
'याद पापा आ गये मन ढाॅंपते से'
Rashmi Sanjay
एक तोला स्त्री
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
नई तकदीर
मनोज कर्ण
रे बाबा कितना मुश्किल है गाड़ी चलाना
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कवि का परिचय( पं बृजेश कुमार नायक का परिचय)
Pt. Brajesh Kumar Nayak
करते रहो सितम।
Taj Mohammad
जंगल में एक बंदर आया
VINOD KUMAR CHAUHAN
कर्ज
Vikas Sharma'Shivaaya'
नमन!
Shriyansh Gupta
माँ
संजीव शुक्ल 'सचिन'
प्रात का निर्मल पहर है
मनोज कर्ण
पितृ स्तुति
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
इश्क़ में क्या हार-जीत
N.ksahu0007@writer
'तुम भी ना'
Rashmi Sanjay
नीड़ फिर सजाना है
Saraswati Bajpai
दया करो भगवान
Buddha Prakash
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
Jyoti Khari
मैं तुम पर क्या छन्द लिखूँ?
नंदन पंडित
आपके जाने के बाद
pradeep nagarwal
जिसके सीने में जिगर होता है।
Taj Mohammad
आदमी कितना नादान है
Ram Krishan Rastogi
पिता श्रेष्ठ है इस दुनियां में जीवन देने वाला है
सतीश मिश्र "अचूक"
💐प्रेम की राह पर-26💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
=*तुम अन्न-दाता हो*=
Prabhudayal Raniwal
दाता
निकेश कुमार ठाकुर
बुद्ध पूर्णिमा पर मेरे मन के उदगार
Ram Krishan Rastogi
【3】 ¡*¡ दिल टूटा आवाज हुई ना ¡*¡
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कवनो गाड़ी तरे ई चले जिंदगी
आकाश महेशपुरी
तेरा पापा... अपने वतन में
Dr. Pratibha Mahi
दिल की ख्वाहिशें।
Taj Mohammad
Loading...