Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 May 2016 · 1 min read

ये भी’ कोई ज़िंदगी है,

ये भी’ कोई ज़िंदगी है,
आदमी जिसमें दुखी है.

आदमी तो आदमी में ।
ढूंढता कोई कमी है ।।

साथ माँगा दोस्ती में ।
टूटी तब उम्मीदगी है।.

रात दिन साथी बदलते।
ये मुहब्बत मौसमी है ।।

ये नमस्ते आजकल की।
हाय हेल्लो में हुई है ।।

आज हर इक सभ्यता भी
क्षीण होती जा रही है।।

है कहाँ पहले सा’ रिश्ता।
गाँठ रिश्तों की खुली है ।।

** आलोक मित्तल उदित **
** रायपुर **

1 Like · 397 Views
You may also like:
एक सुन्दरी है
Varun Singh Gautam
*जातिवाद का खण्डन*
Dushyant Kumar
कश्ती को साहिल चाहिए।
Taj Mohammad
चोट गहरी थी मेरे ज़ख़्मों की
Dr fauzia Naseem shad
'घायल मन'
पंकज कुमार कर्ण
कभी क्यो दिल जलाते हो मेरा
Ram Krishan Rastogi
पंख कटे पांखी
सूर्यकांत द्विवेदी
నా తెలుగు భాష..
विजय कुमार 'विजय'
तमन्ना अनूप
Dr.sima
हम हैं गुलाम ए मुस्तफा दुनिया फिजूल है।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
" ना रही पहले आली हवा "
Dr Meenu Poonia
जम्हूरियत
बिमल
कलम
AMRESH KUMAR VERMA
✍️आसमाँ के परिंदे ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
सच्चे दोस्त की ज़रूरत
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
【34】*!!* आग दबाये मत रखिये *!!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
बरसात आई झूम के...
Buddha Prakash
असफलता और मैं
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
गायक मुकेश विशेष
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जंगल में एक बंदर आया
VINOD KUMAR CHAUHAN
#करवा चौथ#
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
प्यार
विशाल शुक्ल
“ गंगा ” का सन्देश
DESH RAJ
बदल कर टोपियां अपनी, कहीं भी पहुंच जाते हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️✍️ठोकर✍️✍️
'अशांत' शेखर
बेटी को लेकर सोच बदल रहा है
Anamika Singh
*अध्यापक महोदय के ऑनलाइन स्थानांतरण हेतु प्रबंधक की अनापत्ति*
Ravi Prakash
दंगा पीड़ित
Shyam Pandey
"लेखक की मानसिकता "
DrLakshman Jha Parimal
नाशवंत आणि अविनाशी
Shyam Sundar Subramanian
Loading...