Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Mar 2024 · 1 min read

ये तलाश सत्य की।

ये तलाश सत्य की, अनभिज्ञ पथों से परिचय कराएगी,
सुषुप्ति में सोये इस मन को, विशुद्ध ज्ञान के बोध से जगाएगी।
जग बंधन है, माया-रचित, उस हठी गाँठ से ये मिलवाएगी,
अनंत व्यापक उस ब्रह्म के, निर्विकार निर्गुणत्ता को भी समझाएगी।
सृष्टि के आदि में अंत है, शून्य सन्नाटे में टपकते गूंज को ये सुनाएगी,
आकाश की गहराइयों में बह रही, सच्चिदानंद के आभा को भी दर्शाएगी।
इच्छा-तृष्णा है मोलरहित, स्वार्थ भक्ति से ये बचाएगी,
मायारचित देह-दर्शन भी सत्य है, सगुण भाव के सूत्र को भी बताएगी।
पंचभौतिक जगत में उपस्थित, उस ब्रह्म की सर्वज्ञता का भान कराएगी,
शरीर में रहते हुए उस चैतन्य की, चेतना का प्रकाश भी दिखाएगी।
साक्ष्य भी ‘मैं’ और साक्षी भी ‘मैं’, अंतःकरण के क्षेत्रों में ज्ञान फैलाएगी,
आत्मबोध में निहित उस ब्रह्मबोध की राह, तब प्रत्यक्षता पाएगी।
सत, रज,तम को पार कर, कर्म के बंधनों को तोड़ना सिखाएगी,
निःस्वार्थ प्रेम की नैया पर बिठाकर, मोक्ष के सागर की दिशा में ले जायेगी।

4 Likes · 284 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Manisha Manjari
View all
You may also like:
युद्ध के स्याह पक्ष
युद्ध के स्याह पक्ष
Aman Kumar Holy
दोनों हाथों की बुनाई
दोनों हाथों की बुनाई
Awadhesh Singh
कि लड़का अब मैं वो नहीं
कि लड़का अब मैं वो नहीं
The_dk_poetry
"चुनाव"
Dr. Kishan tandon kranti
स्वतंत्रता का अनजाना स्वाद
स्वतंत्रता का अनजाना स्वाद
Mamta Singh Devaa
औरत की हँसी
औरत की हँसी
Dr MusafiR BaithA
24)”मुस्करा दो”
24)”मुस्करा दो”
Sapna Arora
बुलंदियों से भरे हौसलें...!!!!
बुलंदियों से भरे हौसलें...!!!!
Jyoti Khari
🙏 *गुरु चरणों की धूल*🙏
🙏 *गुरु चरणों की धूल*🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
'चो' शब्द भी गजब का है, जिसके साथ जुड़ जाता,
'चो' शब्द भी गजब का है, जिसके साथ जुड़ जाता,
SPK Sachin Lodhi
अष्टम् तिथि को प्रगटे, अष्टम् हरि अवतार।
अष्टम् तिथि को प्रगटे, अष्टम् हरि अवतार।
डॉ.सीमा अग्रवाल
अब
अब "अज्ञान" को
*Author प्रणय प्रभात*
यह शहर पत्थर दिलों का
यह शहर पत्थर दिलों का
VINOD CHAUHAN
धरा और इसमें हरियाली
धरा और इसमें हरियाली
Buddha Prakash
होना जरूरी होता है हर रिश्ते में विश्वास का
होना जरूरी होता है हर रिश्ते में विश्वास का
Mangilal 713
दोस्ती का एहसास
दोस्ती का एहसास
Dr fauzia Naseem shad
बात मेरे मन की
बात मेरे मन की
Sûrëkhâ
सत्य की खोज
सत्य की खोज
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
कृतिकार का परिचय/
कृतिकार का परिचय/"पं बृजेश कुमार नायक" का परिचय
Pt. Brajesh Kumar Nayak
" रहना तुम्हारे सँग "
DrLakshman Jha Parimal
@ !!
@ !! "हिम्मत की डोर" !!•••••®:
Prakhar Shukla
*जिंदगी के अनोखे रंग*
*जिंदगी के अनोखे रंग*
Harminder Kaur
नवगीत - बुधनी
नवगीत - बुधनी
Mahendra Narayan
पत्नी के जन्मदिन पर....
पत्नी के जन्मदिन पर....
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
आज का अभिमन्यु
आज का अभिमन्यु
विजय कुमार अग्रवाल
जुनून
जुनून
अखिलेश 'अखिल'
मैं हैरतभरी नजरों से उनको देखती हूँ
मैं हैरतभरी नजरों से उनको देखती हूँ
ruby kumari
*सहकारी-युग हिंदी साप्ताहिक का दूसरा वर्ष (1960 - 61)*
*सहकारी-युग हिंदी साप्ताहिक का दूसरा वर्ष (1960 - 61)*
Ravi Prakash
मेरा होकर मिलो
मेरा होकर मिलो
Mahetaru madhukar
दोहे ( किसान के )
दोहे ( किसान के )
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Loading...