Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Feb 2024 · 1 min read

युवा शक्ति

युवा देश का गौरव होता
युवा देश का भविष्य।
युवा राष्ट्र का निर्माण करता
युवा राष्ट्र का निर्णय ।।

कैसी आन पड़ी आज
देश के युवा पर समस्या।
उलझ पड़ा विकट स्थिति में
भंग हो रही युवा की तपस्या।।

ऐसा तप करने से क्यों
युवा आज घबरा रहा।
जो की सुभाष, भगत ने
बने महान थे विवेका ।।

युवा आज का डूब रहा
डूब रही युवा की भक्ति।
लत नशे की बूरी लगी
क्षीण होती युवा शक्ति।।

समय रहते नशे पर यदि
मिटाने को न बनी युक्ति।
भटक जायेगा देश का युवा
क्षीण हो जाएगी युवा शक्ति।।

हे मेरे देश के युवा
समय की सुन लो पुकार।
देश बचेगा, बचेगा समाज।
भर लो तुम अब हुँकार ।।

पहले डटकर लड़ना होगा
अन्तर्मन में छिपे दुश्मनो से।
तब आँख न उठा पायेगा
दुश्मन,भारत के जनो से।।

✍संजय कुमार ‘संजू ‘
शिमला, हिमाचल प्रदेश।

Language: Hindi
60 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from संजय कुमार संजू
View all
You may also like:
मैं
मैं
Seema gupta,Alwar
मन मंथन पर सुन सखे,जोर चले कब कोय
मन मंथन पर सुन सखे,जोर चले कब कोय
Dr Archana Gupta
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
घर
घर
Dr MusafiR BaithA
चिड़िया
चिड़िया
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मार गई मंहगाई कैसे होगी पढ़ाई🙏✍️🙏
मार गई मंहगाई कैसे होगी पढ़ाई🙏✍️🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
गरीब और बुलडोजर
गरीब और बुलडोजर
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Kisne kaha Maut sirf ek baar aati h
Kisne kaha Maut sirf ek baar aati h
Kumar lalit
दस्तूर ए जिंदगी
दस्तूर ए जिंदगी
AMRESH KUMAR VERMA
फितरत है इंसान की
फितरत है इंसान की
आकाश महेशपुरी
रुख के दुख
रुख के दुख
Santosh kumar Miri
बगल में कुर्सी और सामने चाय का प्याला
बगल में कुर्सी और सामने चाय का प्याला
VINOD CHAUHAN
सुन्दर तन तब जानिये,
सुन्दर तन तब जानिये,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
पल
पल
Sangeeta Beniwal
‘ विरोधरस ‘---2. [ काव्य की नूतन विधा तेवरी में विरोधरस ] +रमेशराज
‘ विरोधरस ‘---2. [ काव्य की नूतन विधा तेवरी में विरोधरस ] +रमेशराज
कवि रमेशराज
अनवरत ये बेचैनी
अनवरत ये बेचैनी
Shweta Soni
चश्म–ए–बद दूर
चश्म–ए–बद दूर
Awadhesh Singh
23/09.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/09.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
Let your thoughts
Let your thoughts
Dhriti Mishra
जून की दोपहर (कविता)
जून की दोपहर (कविता)
Kanchan Khanna
"मित्रता और मैत्री"
Dr. Kishan tandon kranti
*दलबदलू माहौल है, दलबदलू यह दौर (कुंडलिया)*
*दलबदलू माहौल है, दलबदलू यह दौर (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
सभी फैसले अपने नहीं होते,
सभी फैसले अपने नहीं होते,
शेखर सिंह
कवियों की कैसे हो होली
कवियों की कैसे हो होली
महेश चन्द्र त्रिपाठी
चलना था साथ
चलना था साथ
Dr fauzia Naseem shad
पा रही भव्यता अवधपुरी उत्सव मन रहा अनोखा है।
पा रही भव्यता अवधपुरी उत्सव मन रहा अनोखा है।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
देश का वामपंथ
देश का वामपंथ
विजय कुमार अग्रवाल
ଅଦିନ ଝଡ
ଅଦିନ ଝଡ
Bidyadhar Mantry
प्रथम किरण नव वर्ष की।
प्रथम किरण नव वर्ष की।
Vedha Singh
"जयचंदों" को पालने वाले
*प्रणय प्रभात*
Loading...