Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Oct 2023 · 1 min read

“मौत से क्या डरना “

“मौत से क्या डरना ”
मौत से क्या डरना यारो ,
मौत तो एक दिन आना है।
जीवन का सत्य यही है ,
सबको एक दिन जाना है ।
किस बात का गुरुर करें,
जब सब यहीं छोड़ जाना है।
ना समझ है वों लोग ,
जो करते है घमंड अपने धन ,दौलत पर।
यकीन मानिए उनको भी एक दिन जाना है।
……✍️ योगेन्द्र चतुर्वेदी

1 Like · 1 Comment · 480 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
खेल खिलाड़ी
खेल खिलाड़ी
Mahender Singh
शोकहर छंद विधान (शुभांगी)
शोकहर छंद विधान (शुभांगी)
Subhash Singhai
हम कहाँ जा रहे हैं...
हम कहाँ जा रहे हैं...
Radhakishan R. Mundhra
वृक्ष बड़े उपकारी होते हैं,
वृक्ष बड़े उपकारी होते हैं,
अनूप अम्बर
खुद से सिफारिश कर लेते हैं
खुद से सिफारिश कर लेते हैं
Smriti Singh
मिसरे जो मशहूर हो गये- राना लिधौरी
मिसरे जो मशहूर हो गये- राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
आनंद और इच्छा में जो उलझ जाओगे
आनंद और इच्छा में जो उलझ जाओगे
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ज़िंदगी में गीत खुशियों के ही गाना दोस्तो
ज़िंदगी में गीत खुशियों के ही गाना दोस्तो
Dr. Alpana Suhasini
मौसम - दीपक नीलपदम्
मौसम - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
हिन्दु नववर्ष
हिन्दु नववर्ष
भरत कुमार सोलंकी
सच्चा धर्म
सच्चा धर्म
Dr. Pradeep Kumar Sharma
■ आज का आख़िरी शेर-
■ आज का आख़िरी शेर-
*Author प्रणय प्रभात*
2467.पूर्णिका
2467.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
है माँ
है माँ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
रिश्तें मे मानव जीवन
रिश्तें मे मानव जीवन
Anil chobisa
खोल नैन द्वार माँ।
खोल नैन द्वार माँ।
लक्ष्मी सिंह
*बिन बुलाए आ जाता है सवाल नहीं करता.!!*
*बिन बुलाए आ जाता है सवाल नहीं करता.!!*
AVINASH (Avi...) MEHRA
प्रणय 2
प्रणय 2
Ankita Patel
हम भी अगर बच्चे होते
हम भी अगर बच्चे होते
नूरफातिमा खातून नूरी
माँ का अछोर आंचल / मुसाफ़िर बैठा
माँ का अछोर आंचल / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
ज़माने की निगाहों से कैसे तुझपे एतबार करु।
ज़माने की निगाहों से कैसे तुझपे एतबार करु।
Phool gufran
हे राम हृदय में आ जाओ
हे राम हृदय में आ जाओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
** राम बनऽला में एतना तऽ..**
** राम बनऽला में एतना तऽ..**
Chunnu Lal Gupta
*मस्तियों का आ गया मौसम, हवा में प्यार है  (हिंदी गजल/गीतिका
*मस्तियों का आ गया मौसम, हवा में प्यार है (हिंदी गजल/गीतिका
Ravi Prakash
*** सागर की लहरें....! ***
*** सागर की लहरें....! ***
VEDANTA PATEL
Whenever My Heart finds Solitude
Whenever My Heart finds Solitude
कुमार
गिल्ट
गिल्ट
आकांक्षा राय
लौट आओ तो सही
लौट आओ तो सही
मनोज कर्ण
चाय सिर्फ चीनी और चायपत्ती का मेल नहीं
चाय सिर्फ चीनी और चायपत्ती का मेल नहीं
Charu Mitra
गीत..
गीत..
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
Loading...