Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Feb 2023 · 1 min read

प्रणय 3

मैं सबसे आसानी से बातें कर लेती हूं
पर तुझसे कुछ भी कहने से डरती हूं
शायद इसलिए,
क्योंकि मैं तुझसे बहुत प्यार करती हूं

126 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शुद्ध
शुद्ध
Dr.Priya Soni Khare
तपन ऐसी रखो
तपन ऐसी रखो
Ranjana Verma
प्रणय 9
प्रणय 9
Ankita Patel
छोड़ कर मुझे कहा जाओगे
छोड़ कर मुझे कहा जाओगे
Anil chobisa
तूफां से लड़ता वही
तूफां से लड़ता वही
Satish Srijan
"दर्द की महक"
Dr. Kishan tandon kranti
आतंकवाद
आतंकवाद
नेताम आर सी
अधरों पर शतदल खिले, रुख़ पर खिले गुलाब।
अधरों पर शतदल खिले, रुख़ पर खिले गुलाब।
डॉ.सीमा अग्रवाल
गद्दार है वह जिसके दिल में
गद्दार है वह जिसके दिल में
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
" अब मिलने की कोई आस न रही "
Aarti sirsat
तेरी गली से निकलते हैं तेरा क्या लेते है
तेरी गली से निकलते हैं तेरा क्या लेते है
Ram Krishan Rastogi
"मेरा भोला बाबा"
Dr Meenu Poonia
चालें बहुत शतरंज की
चालें बहुत शतरंज की
surenderpal vaidya
बेवफा मैं कहूँ कैसे उसको बता,
बेवफा मैं कहूँ कैसे उसको बता,
Arvind trivedi
बुश का बुर्का
बुश का बुर्का
नन्दलाल सिंह 'कांतिपति'
तेरी मिट्टी के लिए अपने कुएँ से पानी बहाया है
तेरी मिट्टी के लिए अपने कुएँ से पानी बहाया है
'अशांत' शेखर
दीपावली 🎇🪔❤️
दीपावली 🎇🪔❤️
Skanda Joshi
"बहरे होने का अपना अलग ही आनंद है साहब!
*Author प्रणय प्रभात*
नारी
नारी
Prakash Chandra
किसका चौकीदार?
किसका चौकीदार?
Shekhar Chandra Mitra
मुख्तसर हयात है बाकी
मुख्तसर हयात है बाकी
shabina. Naaz
Mana ki mohabbat , aduri nhi hoti
Mana ki mohabbat , aduri nhi hoti
Sakshi Tripathi
!! दो अश्क़ !!
!! दो अश्क़ !!
Chunnu Lal Gupta
इन टिमटिमाते तारों का भी अपना एक वजूद होता है
इन टिमटिमाते तारों का भी अपना एक वजूद होता है
ruby kumari
ऑनलाईन शॉपिंग।
ऑनलाईन शॉपिंग।
लक्ष्मी सिंह
💐प्रेम कौतुक-316💐
💐प्रेम कौतुक-316💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*थोड़ा गुस्सा तो चलेगा, किंतु अति अच्छी नहीं (मुक्तक)*
*थोड़ा गुस्सा तो चलेगा, किंतु अति अच्छी नहीं (मुक्तक)*
Ravi Prakash
"रामगढ़ की रानी अवंतीबाई लोधी"
Shyam Singh Lodhi (LR)
"एको देवः केशवो वा शिवो वा एकं मित्रं भूपतिर्वा यतिर्वा ।
Mukul Koushik
वाल्मीकि रामायण, किष्किन्धा काण्ड, द्वितीय सर्ग में राम द्वा
वाल्मीकि रामायण, किष्किन्धा काण्ड, द्वितीय सर्ग में राम द्वा
Rohit Kumar
Loading...