Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Mar 2017 · 1 min read

!! मेरी वसीयत !!

दुनिया को छोड़ने से पहले
लिख कर जा रहा हूँ
जो भी शब्दों की संपत्ति
मेरे पास ऊपर वाले ने दी
उस को अब तक संभाल के रखा
अब उस को मैं अपनी
वसीयत के रूप में
लिख कर चला जाऊँगा
बाँट सको तो बाँट लेना
शायद तुम्हारे काम आ जाये
धन दौलत तो मैं कमा न पाया
इन को संभाल के रखा
था इन्हीं पलो के लिए
की जाने से पहले
दे जाऊं जो मैने
लिखा था समाज के लिए
धन पर तो बट जाते हैं
दुनिया भर के रिश्ते
दीवारे खड़ी हो जातीहैं
सब रिश्तेदारों के मध्य
यह है ऐसी दौलत
जो कोई छीन सकता नहीं था
इसी लिए लिख के जा रहा
हूँ तुम सब के लिए
“करूणाकर” दिया था नाम
शायद किसी इंसान ने मुझको
उस नाम का क़र्ज़ चुका के
जा रहा हूँ, अपनी इस
वसीयत से उन सब के लिए
कि लिखना और मुझ से
भी अच्छा लिखना
ताकि आने वाला कल और
सुनहरा हो, और मेरा समाज
की सोच भी गहरी हो
लाज रखना बस मेरी
इस वसीयत की सभी के लिए

अजीत कुमार तलवार
मेरठ

Language: Hindi
326 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
View all
You may also like:
ये ऊँचे-ऊँचे पर्वत शिखरें,
ये ऊँचे-ऊँचे पर्वत शिखरें,
Buddha Prakash
रंगमंच
रंगमंच
लक्ष्मी सिंह
जिनका हम जिक्र तक नहीं करते हैं
जिनका हम जिक्र तक नहीं करते हैं
ruby kumari
ज़िंदगी मोजिज़ा नहीं
ज़िंदगी मोजिज़ा नहीं
Dr fauzia Naseem shad
छोटे बच्चों की ऊँची आवाज़ को माँ -बाप नज़रअंदाज़ कर देते हैं पर
छोटे बच्चों की ऊँची आवाज़ को माँ -बाप नज़रअंदाज़ कर देते हैं पर
DrLakshman Jha Parimal
फूल फूल और फूल
फूल फूल और फूल
SATPAL CHAUHAN
हाइकु : रोहित वेमुला की ’बलिदान’ आत्महत्या पर / मुसाफ़िर बैठा
हाइकु : रोहित वेमुला की ’बलिदान’ आत्महत्या पर / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
कर रहे हैं वंदना
कर रहे हैं वंदना
surenderpal vaidya
जाती नहीं है क्यों, तेरी याद दिल से
जाती नहीं है क्यों, तेरी याद दिल से
gurudeenverma198
मन वैरागी हो गया
मन वैरागी हो गया
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
निदा फाज़ली का एक शेर है
निदा फाज़ली का एक शेर है
Sonu sugandh
"" *तस्वीर* ""
सुनीलानंद महंत
वेलेंटाइन डे बिना विवाह के सुहागरात के समान है।
वेलेंटाइन डे बिना विवाह के सुहागरात के समान है।
Rj Anand Prajapati
कर्बला की मिट्टी
कर्बला की मिट्टी
Paras Nath Jha
दुनिया कैसी है मैं अच्छे से जानता हूं
दुनिया कैसी है मैं अच्छे से जानता हूं
Ranjeet kumar patre
*झील-झरने सब पर्वत 【कुंडलिया】*
*झील-झरने सब पर्वत 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
// स्वर सम्राट मुकेश जन्म शती वर्ष //
// स्वर सम्राट मुकेश जन्म शती वर्ष //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नन्ही परी चिया
नन्ही परी चिया
Dr Archana Gupta
क्षणिका ...
क्षणिका ...
sushil sarna
विश्वास
विश्वास
Dr. Pradeep Kumar Sharma
****** घूमते घुमंतू गाड़ी लुहार ******
****** घूमते घुमंतू गाड़ी लुहार ******
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मानव-जीवन से जुड़ा, कृत कर्मों का चक्र।
मानव-जीवन से जुड़ा, कृत कर्मों का चक्र।
डॉ.सीमा अग्रवाल
2577.पूर्णिका
2577.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"वीर शिवाजी"
Dr. Kishan tandon kranti
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
गिरता है गुलमोहर ख्वाबों में
गिरता है गुलमोहर ख्वाबों में
शेखर सिंह
आरक्षण
आरक्षण
Artist Sudhir Singh (सुधीरा)
इस मोड़ पर
इस मोड़ पर
Punam Pande
रूपेश को मिला
रूपेश को मिला "बेस्ट राईटर ऑफ द वीक सम्मान- 2023"
रुपेश कुमार
//?
//?
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...