Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 May 2024 · 1 min read

मेरी बिटिया

चिड़ियों सा मीठा स्वर,
फूलों की मधुर मुस्कान,
तुतलाती सी आवाज लिए,
पूरे घर में फिरती रहती है।

कभी तारों का पता पूछती,
कभी इंद्रधनुष का प्रतचां ढूंढती,
कभी बादलों संग दौड़ करती,
पूरे मोहल्ले में खेला करती है।

चोट लगने पर मुझे पुकारती,
तो कभी मेरी चोट पर मुझे पुचकारती,
वो सुख दुख के साथी बन,
मेरे साथ ही घूमती रहती है।

भयभीत हो कभी मेरे आंचल में छिपती,
कभी मेरे लिए अपने पिता से भी लड़ती,
वह अबोध सी बेटी मेरी, मुझे
मेरे हृदय का टुकड़ा लगती है।

मुझे बना अपनी सखी मेरे संग खेला करती है,
कभी रसोई में आटा लेकर रोटी सेका करती है,
वह नन्हीं सी परछाई मेरी,
मुझे मेरे बचपन का स्वरूप ही लगती है।

लक्ष्मी वर्मा ” प्रतीक्षा”
खरियार रोड, ओड़िशा।

Language: Hindi
2 Likes · 41 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
3511.🌷 *पूर्णिका* 🌷
3511.🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
“लिखें तो लिखें क्या ?”–व्यंग रचना
“लिखें तो लिखें क्या ?”–व्यंग रचना
Dr Mukesh 'Aseemit'
#विभाजन_दिवस
#विभाजन_दिवस
*प्रणय प्रभात*
इतना क्यों व्यस्त हो तुम
इतना क्यों व्यस्त हो तुम
Shiv kumar Barman
खुल जाये यदि भेद तो,
खुल जाये यदि भेद तो,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
संकल्प
संकल्प
Dr. Pradeep Kumar Sharma
अरबपतियों की सूची बेलगाम
अरबपतियों की सूची बेलगाम
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
रूठ जा..... ये हक है तेरा
रूठ जा..... ये हक है तेरा
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मर्यादा पुरुषोत्तम राम
मर्यादा पुरुषोत्तम राम
Ramji Tiwari
जिन्दगी में
जिन्दगी में
लक्ष्मी सिंह
यदि आपके पास नकारात्मक प्रकृति और प्रवृत्ति के लोग हैं तो उन
यदि आपके पास नकारात्मक प्रकृति और प्रवृत्ति के लोग हैं तो उन
Abhishek Kumar Singh
मेरा तेरा जो प्यार है किसको खबर है आज तक।
मेरा तेरा जो प्यार है किसको खबर है आज तक।
सत्य कुमार प्रेमी
*छोटी होती अक्ल है, मोटी भैंस अपार * *(कुंडलिया)*
*छोटी होती अक्ल है, मोटी भैंस अपार * *(कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Not a Choice, But a Struggle
Not a Choice, But a Struggle
पूर्वार्थ
हर रोज़
हर रोज़
Dr fauzia Naseem shad
सच
सच
Neeraj Agarwal
हाथ की लकीरें
हाथ की लकीरें
Mangilal 713
सुख - डगर
सुख - डगर
Sandeep Pande
आलोचना - अधिकार या कर्तव्य ? - शिवकुमार बिलगरामी
आलोचना - अधिकार या कर्तव्य ? - शिवकुमार बिलगरामी
Shivkumar Bilagrami
कैसे हो गया बेखबर तू , हमें छोड़कर जाने वाले
कैसे हो गया बेखबर तू , हमें छोड़कर जाने वाले
gurudeenverma198
इश्क़ का दामन थामे
इश्क़ का दामन थामे
Surinder blackpen
"प्रेम"
शेखर सिंह
जंग जीत कर भी सिकंदर खाली हाथ गया
जंग जीत कर भी सिकंदर खाली हाथ गया
VINOD CHAUHAN
Exam Stress
Exam Stress
Tushar Jagawat
डरने कि क्या बात
डरने कि क्या बात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जब  भी  तू  मेरे  दरमियाँ  आती  है
जब भी तू मेरे दरमियाँ आती है
Bhupendra Rawat
ग़ज़ल/नज़्म - एक वो दोस्त ही तो है जो हर जगहा याद आती है
ग़ज़ल/नज़्म - एक वो दोस्त ही तो है जो हर जगहा याद आती है
अनिल कुमार
विधाता छंद
विधाता छंद
डॉ.सीमा अग्रवाल
चोर उचक्के बेईमान सब, सेवा करने आए
चोर उचक्के बेईमान सब, सेवा करने आए
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कुछ लोग रिश्ते में व्यवसायी होते हैं,
कुछ लोग रिश्ते में व्यवसायी होते हैं,
Vindhya Prakash Mishra
Loading...