Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Mar 2023 · 1 min read

मजबूरी तो नहीं

तुम्हारे फूल से चेहरे को जब छूता हूँ
इन बेरहम बेजान उँगलियों से
कुछ घबराई सी सकुचाई क्षण भर को तुम मुरझा सी जाती हो
खुद को सभालते समझाते पलट पड़ती हो चेहरे में फीकी सी हँसी ओढे
कि शायद मैं न बुरा मानू कि तुमको बुरा लगता है इस तरह मेरा छूना
मन थर्रा सा जाता है कहीं मजबूरी तो नहीं कोई मेरे जीवन मे तेरा आना
M.Tiwari”Ayan”

Language: Hindi
1 Like · 1 Comment · 325 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Mahesh Tiwari 'Ayan'
View all
You may also like:
पागल तो मैं ही हूँ
पागल तो मैं ही हूँ
gurudeenverma198
प्रेम की पेंगें बढ़ाती लड़की / मुसाफ़िर बैठा
प्रेम की पेंगें बढ़ाती लड़की / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
*सौम्य व्यक्तित्व के धनी दही विक्रेता श्री राम बाबू जी*
*सौम्य व्यक्तित्व के धनी दही विक्रेता श्री राम बाबू जी*
Ravi Prakash
🙅आश्वासन🙅
🙅आश्वासन🙅
*प्रणय प्रभात*
ठहर जा, एक पल ठहर, उठ नहीं अपघात कर।
ठहर जा, एक पल ठहर, उठ नहीं अपघात कर।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"भोर की आस" हिन्दी ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
*वह बिटिया थी*
*वह बिटिया थी*
Mukta Rashmi
24-खुद के लहू से सींच के पैदा करूँ अनाज
24-खुद के लहू से सींच के पैदा करूँ अनाज
Ajay Kumar Vimal
"वक्त के गर्त से"
Dr. Kishan tandon kranti
सुंदरता विचारों में सफर करती है,
सुंदरता विचारों में सफर करती है,
सिद्धार्थ गोरखपुरी
यहाँ किसे , किसका ,कितना भला चाहिए ?
यहाँ किसे , किसका ,कितना भला चाहिए ?
_सुलेखा.
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
" बेदर्द ज़माना "
Chunnu Lal Gupta
তোমার চরণে ঠাঁই দাও আমায় আলতা করে
তোমার চরণে ঠাঁই দাও আমায় আলতা করে
Arghyadeep Chakraborty
Bad in good
Bad in good
Bidyadhar Mantry
जब सब्र आ जाये तो....
जब सब्र आ जाये तो....
shabina. Naaz
World Book Day
World Book Day
Tushar Jagawat
हंसी मुस्कान
हंसी मुस्कान
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
आंखों की नदी
आंखों की नदी
Madhu Shah
भव- बन्धन
भव- बन्धन
Dr. Upasana Pandey
पहला अहसास
पहला अहसास
Falendra Sahu
AMC (आर्मी) का PAY PARADE 1972 -2002” {संस्मरण -फौजी दर्शन}
AMC (आर्मी) का PAY PARADE 1972 -2002” {संस्मरण -फौजी दर्शन}
DrLakshman Jha Parimal
आनन ग्रंथ (फेसबुक)
आनन ग्रंथ (फेसबुक)
Indu Singh
जय श्री राम
जय श्री राम
Neha
“यादों के झरोखे से”
“यादों के झरोखे से”
पंकज कुमार कर्ण
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
23/165.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/165.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ढलती उम्र -
ढलती उम्र -
Seema Garg
कर मुसाफिर सफर तू अपने जिंदगी  का,
कर मुसाफिर सफर तू अपने जिंदगी का,
Yogendra Chaturwedi
एक ही तारनहारा
एक ही तारनहारा
Satish Srijan
Loading...