Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Oct 2023 · 1 min read

मईया के आने कि आहट

मईया के आने कि आहट

सुनी जो मईया के आने कि आहट घर द्वार सजाया हमने ।।

द्वार रंगोली तोरण द्वार बनाया कलश स्थापना व्रत उपवास मईया रीझे जैसे मईया को रिझाया हमने ।।

आई माईया शेर सवार चतुर्भुज अष्ट भुज रूप मईया का सोहे मैन मंदिर मइया का रूप बसाया हमने।।

शंख चक्र गदा पद्म मईया कर धारी माथे मुकुट चुनरी रंग लाल मईया दरबार शीश झुकाया हमने।।

ढोल मृदंग घंटे घड़ियाल बाजे घर घर मईया मंदिर नौ रूपों कि माता कि भक्ति भाव जगाया हमने।।

क्लेश कष्ट मिटे दुनियां के मनोकामनाएं पूरण नेह स्नेह दुलार मईया पाया हमने।।

जग जननी भक्त वत्सल मईया ने क्षमा किए सब अपराध मईया के आने से निर्मल निश्छल मन काया जीवन सफल बनाया हमने।।

नन्दलाल मणि त्रिपाठी पीतांबर गोरखपुर उतर प्रदेश।।

Language: Hindi
95 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
View all
You may also like:
पुजारी शांति के हम, जंग को भी हमने जाना है।
पुजारी शांति के हम, जंग को भी हमने जाना है।
सत्य कुमार प्रेमी
पुरानी गली के कुछ इल्ज़ाम है अभी तुम पर,
पुरानी गली के कुछ इल्ज़ाम है अभी तुम पर,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
संत हृदय से मिले हो कभी
संत हृदय से मिले हो कभी
Damini Narayan Singh
वक्त को कौन बांध सका है
वक्त को कौन बांध सका है
Surinder blackpen
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
मेरी भी कहानी कुछ अजीब है....!
मेरी भी कहानी कुछ अजीब है....!
singh kunwar sarvendra vikram
घाव मरहम से छिपाए जाते है,
घाव मरहम से छिपाए जाते है,
Vindhya Prakash Mishra
राह दिखा दो मेरे भगवन
राह दिखा दो मेरे भगवन
Buddha Prakash
ऐ .. ऐ .. ऐ कविता
ऐ .. ऐ .. ऐ कविता
नेताम आर सी
To improve your mood, exercise
To improve your mood, exercise
पूर्वार्थ
प्रिय विरह
प्रिय विरह
लक्ष्मी सिंह
आसमान तक पहुंचे हो धरती पर हो पांव
आसमान तक पहुंचे हो धरती पर हो पांव
नूरफातिमा खातून नूरी
सवैया छंदों के नाम व मापनी (सउदाहरण )
सवैया छंदों के नाम व मापनी (सउदाहरण )
Subhash Singhai
23/185.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/185.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
हर पल ये जिंदगी भी कोई ख़ास नहीं होती।
हर पल ये जिंदगी भी कोई ख़ास नहीं होती।
Phool gufran
अर्ज किया है
अर्ज किया है
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
दरमियाँ
दरमियाँ
Dr. Rajeev Jain
*वन की ओर चले रघुराई (कुछ चौपाइयॉं)*
*वन की ओर चले रघुराई (कुछ चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
पेट्रोल लोन के साथ मुफ्त कार का ऑफर (व्यंग्य कहानी)
पेट्रोल लोन के साथ मुफ्त कार का ऑफर (व्यंग्य कहानी)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*नववर्ष*
*नववर्ष*
Dr. Priya Gupta
जिंदगी को रोशन करने के लिए
जिंदगी को रोशन करने के लिए
Ragini Kumari
Ajeeb hai ye duniya.......pahle to karona se l ladh rah
Ajeeb hai ye duniya.......pahle to karona se l ladh rah
shabina. Naaz
आजकल की औरते क्या क्या गजब ढा रही (हास्य व्यंग)
आजकल की औरते क्या क्या गजब ढा रही (हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
ख़याल
ख़याल
नन्दलाल सुथार "राही"
कहा हों मोहन, तुम दिखते नहीं हों !
कहा हों मोहन, तुम दिखते नहीं हों !
The_dk_poetry
उम्र पैंतालीस
उम्र पैंतालीस
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
राम और सलमान खान / मुसाफ़िर बैठा
राम और सलमान खान / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
बाल कविता: मूंगफली
बाल कविता: मूंगफली
Rajesh Kumar Arjun
dr arun kumar shastri
dr arun kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"शहर की याद"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...