Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jun 2023 · 1 min read

बेटा हिन्द का हूँ

हिंदी पत्रकारिता दिवस विशेष —

बेटा हिन्द का हूँ मैं, मेरी पहचान है हिंदी माँ सरस्वती कि वीणा की झंकार है हिन्दी, बेटा हिन्द का हूँ मैं मेरी पहचान है हिंदी।।

लहू में बहती सांसों की सोहं धड़कन प्राण है हिंदी बेटा हिन्द का हूँ मैं मेरी पहचान है हिंदी।।

अविनि के कण कण से प्रवाहित निशा
सांध्य दिवस शुभ प्रभात है हिंदी।।

ह्रदय मेरा एक मंदिर है माँ भारती देवी
स्वर साधना आराधना मेरी है हिंदी
बेटा हिन्द का हूँ मैं मेरी पहचान है हिंदी।।

पूरब से पश्चिम ,उत्तर से दक्षिण जन आकांक्षा आत्म पुकार है हिंदी।।

हिमालय से ऊंचा सागर से गहरी हिन्द की भाग्य है हिंदी बेटा हिन्द का हूँ मै मेरी पहचान है हिंदी।।

प्रेम की भाषा मानवता रसधार है हिंदी अविरल निर्मल निर्झर कल कल कलरव गान है हिंदी।
मैं बेटा हिन्द का हूँ मेरी पहचान है हिंदी।।

संस्कृति सम्यक संस्कार है हिंदी हिन्द एक नेक की बंधन सूत्र राष्ट्र का सार है हिंदी।
बेटा हिन्द का हूँ मैं मेरी पहचान है हिंदी।।

नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर गोरखपुर उत्तर प्रदेश।।

Language: Hindi
100 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
View all
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-323💐
💐प्रेम कौतुक-323💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तेरी ख़ामोशी
तेरी ख़ामोशी
Anju ( Ojhal )
जुदाई का एहसास
जुदाई का एहसास
प्रदीप कुमार गुप्ता
भुजरियों, कजलियों की राम राम जी 🎉🙏
भुजरियों, कजलियों की राम राम जी 🎉🙏
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गीत - प्रेम असिंचित जीवन के
गीत - प्रेम असिंचित जीवन के
Shivkumar Bilagrami
तुम शायद मेरे नहीं
तुम शायद मेरे नहीं
Rashmi Ranjan
इक नेता दूल्हे का फूफा,
इक नेता दूल्हे का फूफा,
*Author प्रणय प्रभात*
कुदरत का प्यारा सा तोहफा ये सारी दुनियां अपनी है।
कुदरत का प्यारा सा तोहफा ये सारी दुनियां अपनी है।
सत्य कुमार प्रेमी
***
*** " नाविक ले पतवार....! " ***
VEDANTA PATEL
विरह
विरह
नवीन जोशी 'नवल'
दिल है के खो गया है उदासियों के मौसम में.....कहीं
दिल है के खो गया है उदासियों के मौसम में.....कहीं
shabina. Naaz
वहाॅं कभी मत जाईये
वहाॅं कभी मत जाईये
Paras Nath Jha
23/115.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/115.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
एक और सुबह तुम्हारे बिना
एक और सुबह तुम्हारे बिना
Surinder blackpen
*आए जब से राम हैं, चारों ओर वसंत (कुंडलिया)*
*आए जब से राम हैं, चारों ओर वसंत (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
हुऐ बर्बाद हम तो आज कल आबाद तो होंगे
हुऐ बर्बाद हम तो आज कल आबाद तो होंगे
Anand Sharma
आंखों में भरी यादें है
आंखों में भरी यादें है
Rekha khichi
लोकतंत्र
लोकतंत्र
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मैकदे को जाता हूँ,
मैकदे को जाता हूँ,
Satish Srijan
ये ज़िंदगी
ये ज़िंदगी
Shyam Sundar Subramanian
ये रंगा रंग ये कोतुहल                           विक्रम कु० स
ये रंगा रंग ये कोतुहल विक्रम कु० स
Vikram soni
मेरे वतन मेरे चमन तुझपे हम कुर्बान है
मेरे वतन मेरे चमन तुझपे हम कुर्बान है
gurudeenverma198
मेरे दिल ❤️ में जितने कोने है,
मेरे दिल ❤️ में जितने कोने है,
शिव प्रताप लोधी
भारत की देख शक्ति, दुश्मन भी अब घबराते है।
भारत की देख शक्ति, दुश्मन भी अब घबराते है।
Anil chobisa
" ऊँट "
Dr. Kishan tandon kranti
प्यार है,पावन भी है ।
प्यार है,पावन भी है ।
Dr. Man Mohan Krishna
गिरता है धीरे धीरे इंसान
गिरता है धीरे धीरे इंसान
Sanjay ' शून्य'
बात बात में लड़ने लगे हैं _खून गर्म क्यों इतना है ।
बात बात में लड़ने लगे हैं _खून गर्म क्यों इतना है ।
Rajesh vyas
ले चल साजन
ले चल साजन
Lekh Raj Chauhan
बड़ा अखरता है मुझे कभी कभी
बड़ा अखरता है मुझे कभी कभी
ruby kumari
Loading...