Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Nov 2022 · 2 min read

*बाल कवि सम्मेलन में सुकृति अग्रवाल ने आशु कविता सुना कर सबको चकित कर दिया*

बाल कवि सम्मेलन में सुकृति अग्रवाल ने आशु कविता सुना कर सबको चकित कर दिया
———————————————————-
नौ वर्षीय आशु कवयित्री सुकृति अग्रवाल ने दिनांक 30 नवंबर 2020 को गूगल मीट पर ऑनलाइन बाल कवि सम्मेलन में भाग लिया ।
कार्यक्रम के मुख्य संयोजक एवं मंच संचालक श्री अशोक गोयल (पिलखुआ निवासी ) तथा मुख्य अतिथि कविवर श्री अटल मुरादाबादी थे। सुप्रसिद्ध कवयित्री अनामिका अंबर की झलक देखकर कार्यक्रम में भाग लेने वाले बच्चों के साथ- साथ सभी दर्शकों और श्रोताओं का उत्साह दो गुना हो गया । कार्यक्रम की अध्यक्षता राष्ट्रीय कवि संगम के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगदीश मित्तल ने की।
आपके ही जन्मदिन के उपलक्ष्य में कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।
जब मैंने श्री अशोक गोयल को बताया कि मेरी पोती सुकृति अग्रवाल आशु कवयित्री है तथा यह किसी भी विषय पर तत्काल कविता बनाकर प्रस्तुत करने की क्षमता रखती हैं। तब उन्हें बहुत प्रसन्नता हुई तथा उन्होंने उसी समय विषय दिया कि बिटिया “जन्मदिन” पर कोई कविता सुनाओ । आज तो हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष जगदीश मित्तल जी का जन्मदिन है। यह सुनकर चुनौती को तत्काल सुकृति अग्रवाल ने स्वीकार किया और कुछ ही सेकंड में एक कविता बनाकर सबके सामने प्रस्तुत की। सुकृति अग्रवाल की कविता को सुनने के पश्चात तालियों की गड़गड़ाहट से कवि सम्मेलन गूंज उठा। वाह-वाह के स्वर चारों ओर से सुनाई पड़ रहे थे । अटल मुरादाबादी जी ने कहा कि यह बहुत सुंदर कविता है। श्री अशोक गोयल ने कहा यह बड़ी बात है कि कोई कम उम्र का व्यक्ति बच्चा पूरे आत्मविश्वास के साथ कविता बनाकर प्रस्तुत कर दे ।बीना गोयल जी श्रेष्ठ कवयित्री तथा श्री अशोक गोयल की पत्नी हैं । उन्होंने सुकृति अग्रवाल को अपना आशीर्वाद प्रदान किया ।
बाल कवि सम्मेलन बहुत अच्छा चला। राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगदीश मित्तल के सानिध्य में तथा श्रीमती अनामिका अंबर की प्रेरणादायक उपस्थिति में कवि सम्मेलन में बच्चों ने अत्यंत सुंदर प्रस्तुतियाँ कीं। बच्चों की आयु बहुत कम थी लेकिन उनकी काव्य प्रतिभा तथा मंच पर खड़े होकर अपनी बात कहने का अंदाज सभी को बहुत अच्छा लग रहा था।
इस प्रकार के बाल कवि सम्मेलन दुर्लभ ही होते हैं । अशोक कुमार गोयल (पिलखुआ निवासी) ने अपनी उर्वरा कल्पनाशीलता से यह जो अद्भुत आयोजन किया, उसके लिए उनकी जितनी भी प्रशंसा की जाए कम है ।
●●●●●●●●●●●●●●●●●●●
रवि प्रकाश ,बाजार सर्राफा
रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 99976 15451

Language: Hindi
130 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
" कू कू "
Dr Meenu Poonia
*अद्वितीय गुणगान*
*अद्वितीय गुणगान*
Dushyant Kumar
■ आज ऐतिहासिक दिन
■ आज ऐतिहासिक दिन
*Author प्रणय प्रभात*
प्रणय 7
प्रणय 7
Ankita Patel
बांध रखा हूं खुद को,
बांध रखा हूं खुद को,
Shubham Pandey (S P)
बलबीर
बलबीर
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
दरिया का किनारा हूं,
दरिया का किनारा हूं,
Sanjay ' शून्य'
चाँद से मुलाकात
चाँद से मुलाकात
Kanchan Khanna
ज़िंदगी तेरे सवालों के
ज़िंदगी तेरे सवालों के
Dr fauzia Naseem shad
आज फिर किसी की बातों ने बहकाया है मुझे,
आज फिर किसी की बातों ने बहकाया है मुझे,
Vishal babu (vishu)
लाभ की इच्छा से ही लोभ का जन्म होता है।
लाभ की इच्छा से ही लोभ का जन्म होता है।
Rj Anand Prajapati
चुनौतियाँ बहुत आयी है,
चुनौतियाँ बहुत आयी है,
Dr. Man Mohan Krishna
मेरी आरज़ू है ये
मेरी आरज़ू है ये
shabina. Naaz
💐प्रेम कौतुक-155💐
💐प्रेम कौतुक-155💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
धर्म और संस्कृति
धर्म और संस्कृति
Bodhisatva kastooriya
ख़त पहुंचे भगतसिंह को
ख़त पहुंचे भगतसिंह को
Shekhar Chandra Mitra
दीवाली
दीवाली
Mukesh Kumar Sonkar
विद्यार्थी को तनाव थका देता है पढ़ाई नही थकाती
विद्यार्थी को तनाव थका देता है पढ़ाई नही थकाती
पूर्वार्थ
हाई स्कूल के मेंढक (छोटी कहानी)
हाई स्कूल के मेंढक (छोटी कहानी)
Ravi Prakash
परदेसी की  याद  में, प्रीति निहारे द्वार ।
परदेसी की याद में, प्रीति निहारे द्वार ।
sushil sarna
वोट डालने जाएंगे
वोट डालने जाएंगे
Dr. Reetesh Kumar Khare डॉ रीतेश कुमार खरे
एक ख़त रूठी मोहब्बत के नाम
एक ख़त रूठी मोहब्बत के नाम
अजहर अली (An Explorer of Life)
जब लोग आपसे खफा होने
जब लोग आपसे खफा होने
Ranjeet kumar patre
मेरी नज़रों में इंतिख़ाब है तू।
मेरी नज़रों में इंतिख़ाब है तू।
Neelam Sharma
दान की महिमा
दान की महिमा
Dr. Mulla Adam Ali
3128.*पूर्णिका*
3128.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
श्री गणेश का अर्थ
श्री गणेश का अर्थ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बुराइयां हैं बहुत आदमी के साथ
बुराइयां हैं बहुत आदमी के साथ
Shivkumar Bilagrami
टूटी हुई कलम को
टूटी हुई कलम को
Anil chobisa
राजे तुम्ही पुन्हा जन्माला आलाच नाही
राजे तुम्ही पुन्हा जन्माला आलाच नाही
Shinde Poonam
Loading...