Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Jun 2023 · 1 min read

बाल कविता (बीत गई छुट्टी मनोहारी)

बाय-बाय नानी बाय-बाय दादी
ख़त्म हुयी सारी आजादी…
इतनी सुन्दर इतनी प्यारी
बीत गयी छुट्टी मनोहारी
खुल़े हैं स्कूल ख़ुशी है आधी
खत्म हुयी सारी आजादी …
तेज धूप में दौड़ लगाते
मीठे आम रसीले खाते
अब बस्तों ने नींद उड़ा दी
ख़त्म हुयी सारी आजादी…
बहुत हुयी मौजे मनमानी
अनगिनत मस्ती शैतानी
अब उमंग पढने की जागी
ख़त्म हुयी सारी आजादी …

भारती दास ✍️

Language: Hindi
2 Likes · 165 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Bharti Das
View all
You may also like:
वादा
वादा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
_सुविचार_
_सुविचार_
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
" नई चढ़ाई चढ़ना है "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
जय श्री राम।
जय श्री राम।
Anil Mishra Prahari
नव वर्ष का आगाज़
नव वर्ष का आगाज़
Vandna Thakur
टन टन
टन टन
SHAMA PARVEEN
हिंदू सनातन धर्म
हिंदू सनातन धर्म
विजय कुमार अग्रवाल
पुण्यात्मा के हाथ भी, हो जाते हैं पाप।
पुण्यात्मा के हाथ भी, हो जाते हैं पाप।
डॉ.सीमा अग्रवाल
Go to bed smarter than when you woke up — Charlie Munger
Go to bed smarter than when you woke up — Charlie Munger
पूर्वार्थ
चुल्लू भर पानी में
चुल्लू भर पानी में
Satish Srijan
और तो क्या ?
और तो क्या ?
gurudeenverma198
चलो जिंदगी का कारवां ले चलें
चलो जिंदगी का कारवां ले चलें
VINOD CHAUHAN
डाइन
डाइन
अवध किशोर 'अवधू'
"अक्सर"
Dr. Kishan tandon kranti
जब अन्तस में घिरी हो, दुख की घटा अटूट,
जब अन्तस में घिरी हो, दुख की घटा अटूट,
महेश चन्द्र त्रिपाठी
स्वाल तुम्हारे-जवाब हमारे
स्वाल तुम्हारे-जवाब हमारे
Ravi Ghayal
बुंदेली दोहा - किरा (कीड़ा लगा हुआ खराब)
बुंदेली दोहा - किरा (कीड़ा लगा हुआ खराब)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
इंसानियत
इंसानियत
साहित्य गौरव
गौरैया
गौरैया
Dr.Pratibha Prakash
बचाओं नीर
बचाओं नीर
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
नई शुरुआत
नई शुरुआत
Neeraj Agarwal
ज़िंदगी
ज़िंदगी
Dr fauzia Naseem shad
कण कण में है श्रीराम
कण कण में है श्रीराम
Santosh kumar Miri
*अज्ञानी की कलम शूल_पर_गीत
*अज्ञानी की कलम शूल_पर_गीत
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
बलात्कार
बलात्कार
rkchaudhary2012
अपने आलोचकों को कभी भी नजरंदाज नहीं करें। वही तो है जो आपकी
अपने आलोचकों को कभी भी नजरंदाज नहीं करें। वही तो है जो आपकी
Paras Nath Jha
क्यों इन्द्रदेव?
क्यों इन्द्रदेव?
Shaily
*महाराज श्री अग्रसेन को, सौ-सौ बार प्रणाम है  【गीत】*
*महाराज श्री अग्रसेन को, सौ-सौ बार प्रणाम है 【गीत】*
Ravi Prakash
2444.पूर्णिका
2444.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
नारी हो कमज़ोर नहीं
नारी हो कमज़ोर नहीं
Sonam Puneet Dubey
Loading...