Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jan 2024 · 1 min read

“बहुत है”

“बहुत है”
घर- घर में देख लो
औजार बहुत है,
आपस में मर मिटने को
हथियार बहुत है।
छोटी सी जायदाद मगर
हकदार बहुत है,
अनार तो एक दिखते
पर बीमार बहुत है।

6 Likes · 4 Comments · 172 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
उगाएँ प्रेम की फसलें, बढ़ाएँ खूब फुलवारी।
उगाएँ प्रेम की फसलें, बढ़ाएँ खूब फुलवारी।
डॉ.सीमा अग्रवाल
कब मिलोगी मां.....
कब मिलोगी मां.....
Madhavi Srivastava
खुशी के पल
खुशी के पल
RAKESH RAKESH
लोकतांत्रिक मूल्य एवं संवैधानिक अधिकार
लोकतांत्रिक मूल्य एवं संवैधानिक अधिकार
Shyam Sundar Subramanian
*बेचारी जर्सी 【कुंडलिया】*
*बेचारी जर्सी 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
How do you want to be loved?
How do you want to be loved?
पूर्वार्थ
हाथ में कलम और मन में ख्याल
हाथ में कलम और मन में ख्याल
Sonu sugandh
Wishing you a Diwali filled with love, laughter, and the swe
Wishing you a Diwali filled with love, laughter, and the swe
Lohit Tamta
कब रात बीत जाती है
कब रात बीत जाती है
Madhuyanka Raj
तुम याद आये !
तुम याद आये !
Ramswaroop Dinkar
इक ज़मीं हो
इक ज़मीं हो
Monika Arora
तू जो लुटाये मुझपे वफ़ा
तू जो लुटाये मुझपे वफ़ा
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जो जुल्फों के साये में पलते हैं उन्हें राहत नहीं मिलती।
जो जुल्फों के साये में पलते हैं उन्हें राहत नहीं मिलती।
Phool gufran
एक अध्याय नया
एक अध्याय नया
Priya princess panwar
बंधन
बंधन
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
Kahi pass akar ,ek dusre ko hmesha ke liye jan kar, hum dono
Kahi pass akar ,ek dusre ko hmesha ke liye jan kar, hum dono
Sakshi Tripathi
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Neelofar Khan
"" *प्रताप* ""
सुनीलानंद महंत
कोहरा
कोहरा
Ghanshyam Poddar
चिड़िया
चिड़िया
Kanchan Khanna
रंगीन हुए जा रहे हैं
रंगीन हुए जा रहे हैं
हिमांशु Kulshrestha
मुक्त पुरूष #...वो चला गया.....
मुक्त पुरूष #...वो चला गया.....
Santosh Soni
संघर्ष से‌ लड़ती
संघर्ष से‌ लड़ती
Arti Bhadauria
"आक्रात्मकता" का विकृत रूप ही "उन्माद" कहलाता है। समझे श्रीम
*प्रणय प्रभात*
"लेकिन"
Dr. Kishan tandon kranti
2122 1212 22/112
2122 1212 22/112
SZUBAIR KHAN KHAN
बहू और बेटी
बहू और बेटी
Mukesh Kumar Sonkar
मेरा प्यारा राज्य...... उत्तर प्रदेश
मेरा प्यारा राज्य...... उत्तर प्रदेश
Neeraj Agarwal
एक छोरी काळती हमेशा जीव बाळती,
एक छोरी काळती हमेशा जीव बाळती,
प्रेमदास वसु सुरेखा
कामयाबी का
कामयाबी का
Dr fauzia Naseem shad
Loading...