Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jun 2023 · 1 min read

बहारों कि बरखा

बहारो की बरखा ने
दिल की गली में
अरमां मुहब्बत के
कुछ यूं जगाए।।
हवाओं के झोंके में
बारिष की बूंदे
ख्वाबों की मल्लिक
की खुशबू संग लाये।।
भींगा बदन और सांसो
की गर्मी तरन्नुम मोहब्ब
का दिल मे जगाए।।
लम्हा दिल की धड़कन
वारिश के मौसम में
गीत मोहब्बत का गुनगुनाएं।।
सावन के रिमझिम की प्यासी
कली सागर पिया से मिलने
की हसरत का पैगाम लाये।।
चाहत का रिश्ता मोहब्बत
जमी पे जन्नत की खुशियां
झूमती सावन की आशिकी बताएं।।
छुप गया चाँद बादल के
आगोश में
खवबों की मल्लिक के पायल की
छन छन मोहब्बत के आलम
में सावन की बूंदे जिंदगी
में मुहब्बत का मतलब
बताएं।।
नांदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर

Language: Hindi
125 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
View all
You may also like:
-बहुत देर कर दी -
-बहुत देर कर दी -
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
फिर एक पल भी ना लगा ये सोचने में........
फिर एक पल भी ना लगा ये सोचने में........
shabina. Naaz
मेरा सुकून
मेरा सुकून
Umesh Kumar Sharma
तुम अगर कविता बनो तो, गीत मैं बन जाऊंगा।
तुम अगर कविता बनो तो, गीत मैं बन जाऊंगा।
जगदीश शर्मा सहज
लिखते रहिए ...
लिखते रहिए ...
Dheerja Sharma
लाइफ का कोई रिमोट नहीं होता
लाइफ का कोई रिमोट नहीं होता
शेखर सिंह
कोहली किंग
कोहली किंग
पूर्वार्थ
गुज़िश्ता साल
गुज़िश्ता साल
Dr.Wasif Quazi
जीवन मार्ग आसान है...!!!!
जीवन मार्ग आसान है...!!!!
Jyoti Khari
मेरी सोच~
मेरी सोच~
दिनेश एल० "जैहिंद"
दो पल की जिन्दगी मिली ,
दो पल की जिन्दगी मिली ,
Nishant prakhar
इ इमली से
इ इमली से
Dr. Kishan tandon kranti
नीरोगी काया
नीरोगी काया
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
बड़ा मुश्किल है ये लम्हे,पल और दिन गुजारना
बड़ा मुश्किल है ये लम्हे,पल और दिन गुजारना
'अशांत' शेखर
■ शर्मनाक प्रपंच...
■ शर्मनाक प्रपंच...
*Author प्रणय प्रभात*
हम जिएँ न जिएँ दोस्त
हम जिएँ न जिएँ दोस्त
Vivek Mishra
इतना ना हमे सोचिए
इतना ना हमे सोचिए
The_dk_poetry
मन तो करता है मनमानी
मन तो करता है मनमानी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
वफा से वफादारो को पहचानो
वफा से वफादारो को पहचानो
goutam shaw
3018.*पूर्णिका*
3018.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जब अथक प्रयास करने के बाद आप अपनी खराब आदतों पर विजय प्राप्त
जब अथक प्रयास करने के बाद आप अपनी खराब आदतों पर विजय प्राप्त
Paras Nath Jha
आपके अन्तर मन की चेतना अक्सर जागृत हो , आपसे , आपके वास्तविक
आपके अन्तर मन की चेतना अक्सर जागृत हो , आपसे , आपके वास्तविक
Seema Verma
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
नया जमाना आ गया, रही सास कब खास(कुंडलिया)
नया जमाना आ गया, रही सास कब खास(कुंडलिया)
Ravi Prakash
*****राम नाम*****
*****राम नाम*****
Kavita Chouhan
देखना हमको
देखना हमको
Dr fauzia Naseem shad
छेड़ता है मुझको यशोदा मैया
छेड़ता है मुझको यशोदा मैया
gurudeenverma198
** मुक्तक **
** मुक्तक **
surenderpal vaidya
क्यों तुमने?
क्यों तुमने?
Dr. Meenakshi Sharma
💐प्रेम कौतुक-407💐
💐प्रेम कौतुक-407💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...