Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Feb 2017 · 1 min read

बनवारी (मत्तगयंद छंद सवैया)

गोकुल ग्राम सजै जब केशव बाँसुरिया धुन बाजत प्यारी
संग सखी सब नाचत ग्वालिन दर्श दिखावत हैं बनवारी
ग्वाल सखा सब केशव संगहि माखन खावन गागर ढारी
देखत टूटन गागरि केशव मारन खोजत हैं महतारी I

Language: Hindi
1 Like · 1 Comment · 462 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"सब्र का इम्तिहान लेता है।
*Author प्रणय प्रभात*
तारीख
तारीख
Dr. Seema Varma
बेटियां देखती स्वप्न जो आज हैं।
बेटियां देखती स्वप्न जो आज हैं।
surenderpal vaidya
नानी का घर (बाल कविता)
नानी का घर (बाल कविता)
Ravi Prakash
बदली - बदली हवा और ये जहाँ बदला
बदली - बदली हवा और ये जहाँ बदला
सिद्धार्थ गोरखपुरी
"दरअसल"
Dr. Kishan tandon kranti
अगर किसी के पास रहना है
अगर किसी के पास रहना है
शेखर सिंह
वो बदल रहे हैं।
वो बदल रहे हैं।
Taj Mohammad
बड़ी होती है
बड़ी होती है
sushil sarna
Thunderbolt
Thunderbolt
Pooja Singh
संवेदनायें
संवेदनायें
Dr.Pratibha Prakash
23/40.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/40.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जिधर भी देखो , हर तरफ़ झमेले ही झमेले है,
जिधर भी देखो , हर तरफ़ झमेले ही झमेले है,
_सुलेखा.
जुगनू
जुगनू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
अपने आलोचकों को कभी भी नजरंदाज नहीं करें। वही तो है जो आपकी
अपने आलोचकों को कभी भी नजरंदाज नहीं करें। वही तो है जो आपकी
Paras Nath Jha
अभिव्यक्ति - मानवीय सम्बन्ध, सांस्कृतिक विविधता, और सामाजिक परिवर्तन का स्रोत
अभिव्यक्ति - मानवीय सम्बन्ध, सांस्कृतिक विविधता, और सामाजिक परिवर्तन का स्रोत" - भाग- 01 Desert Fellow Rakesh Yadav
Desert fellow Rakesh
गर्मी आई
गर्मी आई
Manu Vashistha
बेचारा प्रताड़ित पुरुष
बेचारा प्रताड़ित पुरुष
Manju Singh
मौन
मौन
लक्ष्मी सिंह
शीर्षक – वेदना फूलों की
शीर्षक – वेदना फूलों की
Sonam Puneet Dubey
मुहब्बत में उड़ी थी जो ख़ाक की खुशबू,
मुहब्बत में उड़ी थी जो ख़ाक की खुशबू,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
एक प्यार का नगमा
एक प्यार का नगमा
Basant Bhagawan Roy
मन पतंगा उड़ता रहे, पैच कही लड़जाय।
मन पतंगा उड़ता रहे, पैच कही लड़जाय।
Anil chobisa
चलो रे काका वोट देने
चलो रे काका वोट देने
gurudeenverma198
वो तो एक पहेली हैं
वो तो एक पहेली हैं
Dr. Mahesh Kumawat
शीर्षक:
शीर्षक: "ओ माँ"
MSW Sunil SainiCENA
रिश्ते
रिश्ते
Ram Krishan Rastogi
'वर्दी की साख'
'वर्दी की साख'
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
समझना है ज़रूरी
समझना है ज़रूरी
Dr fauzia Naseem shad
खुशी(👇)
खुशी(👇)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
Loading...