Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Feb 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-189💐

बताओ आवाज़ दी ही कब है अपनी जुबाँ से,
सिर्फ़ हवा को ख़्यालों का सलिस है बनाया।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
47 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
रंगों की दुनिया में सब से
रंगों की दुनिया में सब से
shabina. Naaz
तेरे हक़ में ही
तेरे हक़ में ही
Dr fauzia Naseem shad
बरगद पीपल नीम तरु
बरगद पीपल नीम तरु
लक्ष्मी सिंह
विषाद
विषाद
Saraswati Bajpai
बुलंदियों पर पहुंचाएगा इकदिन मेरा हुनर मुझे,
बुलंदियों पर पहुंचाएगा इकदिन मेरा हुनर मुझे,
प्रदीप कुमार गुप्ता
इरादे नहीं पाक,
इरादे नहीं पाक,
Satish Srijan
मम्मी की डांट फटकार
मम्मी की डांट फटकार
Ms.Ankit Halke jha
शिक्षा बिना है, जीवन में अंधियारा
शिक्षा बिना है, जीवन में अंधियारा
gurudeenverma198
😢शर्मनाक दोगलापन😢
😢शर्मनाक दोगलापन😢
*Author प्रणय प्रभात*
तूफ़ान और मांझी
तूफ़ान और मांझी
DESH RAJ
सुनबऽ त हँसबऽ तू बहुते इयार
सुनबऽ त हँसबऽ तू बहुते इयार
आकाश महेशपुरी
ताउम्र लाल रंग से वास्ता रहा मेरा
ताउम्र लाल रंग से वास्ता रहा मेरा
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
स्वयं का न उपहास करो तुम , स्वाभिमान की राह वरो तुम
स्वयं का न उपहास करो तुम , स्वाभिमान की राह वरो तुम
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मुझे याद आता है मेरा गांव
मुझे याद आता है मेरा गांव
Adarsh Awasthi
बँटवारे का दर्द
बँटवारे का दर्द
मनोज कर्ण
कितना ठंडा है नदी का पानी लेकिन
कितना ठंडा है नदी का पानी लेकिन
कवि दीपक बवेजा
कागज के फूल
कागज के फूल
डा गजैसिह कर्दम
"पतवार बन"
Dr. Kishan tandon kranti
*कहाँ साँस लेने की फुर्सत, दिनभर दौड़ लगाती माँ 【 गीत 】*
*कहाँ साँस लेने की फुर्सत, दिनभर दौड़ लगाती माँ 【 गीत 】*
Ravi Prakash
मुझे आशीष दो, माँ
मुझे आशीष दो, माँ
gpoddarmkg
जब तक रहेगी ये ज़िन्दगी
जब तक रहेगी ये ज़िन्दगी
Aksharjeet Ingole
💐प्रेम कौतुक-544💐
💐प्रेम कौतुक-544💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
क़ौमी यकजहती
क़ौमी यकजहती
Shekhar Chandra Mitra
इस धरती पर
इस धरती पर
surenderpal vaidya
मुख्तशर सी जिन्दगी हैं,,,
मुख्तशर सी जिन्दगी हैं,,,
Taj Mohammad
मैथिली हाइकु / Maithili Haiku
मैथिली हाइकु / Maithili Haiku
Binit Thakur (विनीत ठाकुर)
हिचकी
हिचकी
Bodhisatva kastooriya
है मुश्किल दौर सूखी,
है मुश्किल दौर सूखी,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कुदरत
कुदरत
manisha
मेला
मेला
Dr.Priya Soni Khare
Loading...