Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Feb 2024 · 1 min read

प्रदूषण-जमघट।

सुकवि भी अब समूहों में बॅंट गए हैं।
ज्ञान-सूरज जग-धुऑं-सम भट हुए हैं।
कौन सोए राष्ट्र को नव जागरण दे?
विशारद मन, प्रदूषण-जमघट हुए हैं।

पं बृजेश कुमार नायक

1 Like · 125 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Pt. Brajesh Kumar Nayak
View all
You may also like:
ਸਤਾਇਆ ਹੈ ਲੋਕਾਂ ਨੇ
ਸਤਾਇਆ ਹੈ ਲੋਕਾਂ ਨੇ
Surinder blackpen
विश्व पृथ्वी दिवस (22 अप्रैल)
विश्व पृथ्वी दिवस (22 अप्रैल)
डॉ.सीमा अग्रवाल
2905.*पूर्णिका*
2905.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आक्रोश प्रेम का
आक्रोश प्रेम का
भरत कुमार सोलंकी
चुनाव
चुनाव
Mukesh Kumar Sonkar
"होली है आई रे"
Rahul Singh
आम आदमी की दास्ताँ
आम आदमी की दास्ताँ
Dr. Man Mohan Krishna
मुझे भी जीने दो (भ्रूण हत्या की कविता)
मुझे भी जीने दो (भ्रूण हत्या की कविता)
Dr. Kishan Karigar
Bus tumme hi khona chahti hu mai
Bus tumme hi khona chahti hu mai
Sakshi Tripathi
किसी एक के पीछे भागना यूं मुनासिब नहीं
किसी एक के पीछे भागना यूं मुनासिब नहीं
Dushyant Kumar Patel
दूसरे का चलता है...अपनों का ख़लता है
दूसरे का चलता है...अपनों का ख़लता है
Mamta Singh Devaa
प्रिये
प्रिये
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
माता रानी दर्श का
माता रानी दर्श का
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
अरे वो बाप तुम्हें,
अरे वो बाप तुम्हें,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
*आया पहुॅंचा चॉंद तक, भारत का विज्ञान (कुंडलिया)*
*आया पहुॅंचा चॉंद तक, भारत का विज्ञान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
उत्थान राष्ट्र का
उत्थान राष्ट्र का
इंजी. संजय श्रीवास्तव
तुझे भूलना इतना आसां नही है
तुझे भूलना इतना आसां नही है
Bhupendra Rawat
"प्रीत-बावरी"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
उम्मीद.............एक आशा
उम्मीद.............एक आशा
Neeraj Agarwal
ONR WAY LOVE
ONR WAY LOVE
Sneha Deepti Singh
यादों के अथाह में विष है , तो अमृत भी है छुपी हुई
यादों के अथाह में विष है , तो अमृत भी है छुपी हुई
Atul "Krishn"
" मेरे जीवन का राज है राज "
Dr Meenu Poonia
दान
दान
Mamta Rani
मर्द रहा
मर्द रहा
Kunal Kanth
आई वर्षा
आई वर्षा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
नज़ाकत या उल्फत
नज़ाकत या उल्फत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हुनरमंद लोग तिरस्कृत क्यों
हुनरमंद लोग तिरस्कृत क्यों
Mahender Singh
नवल प्रभात में धवल जीत का उज्ज्वल दीप वो जला गया।
नवल प्रभात में धवल जीत का उज्ज्वल दीप वो जला गया।
Neelam Sharma
One day you will realized that happiness was never about fin
One day you will realized that happiness was never about fin
पूर्वार्थ
जागो जागो तुम,अपने अधिकारों के लिए
जागो जागो तुम,अपने अधिकारों के लिए
gurudeenverma198
Loading...