Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Aug 2016 · 1 min read

पत्नी पीड़ित ऐ! भद्र जनों

पत्नी पीड़ित ऐ ! भद्र जनों
मेरी सलाह को अपनाओ
यदि जीवन सुखद बनाना है
यदि घर में स्वर्ग बसाना है
यदि पत्नी-सुख को पाना है
यदि निज सम्मान बचाना है
मेरे प्रियवर हे ! बन्धु सखे
मेरी सलाह सुनते जाओ
ससुराल से जाकर अपने घर
साली सालों को ले आओ
पत्नी यदि कुछ भी कहे तुम्हें
चुपचाप सुनो कर-वद्ध रहो
अपराध बिना भी दण्ड मिले
स्वीकार करो बस कुछ न कहो
उनके ही प्रिय अनुचर बनकर
हँसते हँसते सहते जाओ
उनको सम्पूर्ण समर्पित हो
त्यागो परिवार पिता माता
नित सास-ससुर के साथ रहो
ससुरालय से जोड़ो नाता
अपने प्रियजनों व मित्रों को
धीरे – धीरे तजते जाओ
घर की रखवाली भी होगी
यदि साथ रहेगा प्रिय साला
गुणगान करो सुन्दरता का
हो रूप- रंग चाहे काला
साली के प्रिय सहचर बनकर
बस हाँ में हाँ करते जाओ
शशि जो लक्ष्मी का भाई है
इसलिए विष्णु का साला है
साला ही समझ कर शिवजी ने
मस्तक पर उसे बिठला है
सदियों की यह परिपाटी है
अब तुम भी दोहराते जाओ
ससुराल .।….।।.।

Language: Hindi
Tag: कविता
418 Views
You may also like:
मुझको कबतक रोकोगे
Abhishek Pandey Abhi
✍️बेगैरत गुलामी✍️
'अशांत' शेखर
यारों की आवारगी
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
🥀🍂☘️तुम सावन से लगते हो☘️🍂🥀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ये पूजा ये गायन क्या है?
AJAY AMITABH SUMAN
बाल कहानी - सुन्दर संदेश
SHAMA PARVEEN
स्वर कटुक हैं / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
" की बोर्ड "
Dr Meenu Poonia
गिरवी वर्तमान
Saraswati Bajpai
*मगर जब बन गई मॉं फिर, नहीं हारी कभी नारी...
Ravi Prakash
यह सूखे होंठ समंदर की मेहरबानी है
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
तेरी याद
Umender kumar
तीरगी से निबाह करते रहे
Anis Shah
रिश्तो मे गलतफ़हमी
Anamika Singh
खूबसूरत तोहफा।
Taj Mohammad
आस्था
Shyam Sundar Subramanian
हमारे पापा
पाण्डेय चिदानन्द
प्रेम की राख
Buddha Prakash
डोर सांसों की
Dr fauzia Naseem shad
उन शहीदों की कहानी
gurudeenverma198
ना तख्त होई
Shekhar Chandra Mitra
(स्वतंत्रता की रक्षा)
Prabhudayal Raniwal
कहानियां
Alok Saxena
एक मजदूर
Rashmi Sanjay
तिरंगा
लक्ष्मी सिंह
मीठी-मीठी बातें
AMRESH KUMAR VERMA
समझता है सबसे बड़ा हो गया।
सत्य कुमार प्रेमी
लौटे स्वर्णिम दौर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आज के जीवन की कुछ सच्चाईयां
Ram Krishan Rastogi
“मोह मोह”…….”ॐॐ”….
Piyush Goel
Loading...