Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Feb 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-250💐

पढ़िए, लिखिए, सोचिए, समझिए।बार-बार चिन्तन करिए।हमारी हृदय और मन से स्थिति क्या है?नहीं तो आप में और चारपैरों वाले में कोई अन्तर नहीं है।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
82 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
" भूलने में उसे तो ज़माने लगे "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
यदि सफलता चाहते हो तो सफल लोगों के दिखाए और बताए रास्ते पर च
यदि सफलता चाहते हो तो सफल लोगों के दिखाए और बताए रास्ते पर च
dks.lhp
बालकनी में चार कबूतर बहुत प्यार से रहते थे
बालकनी में चार कबूतर बहुत प्यार से रहते थे
Dr Archana Gupta
मेंटल
मेंटल
सुशील कुमार सिंह "प्रभात"
सिपाही
सिपाही
Buddha Prakash
जलने वालों का कुछ हो नहीं सकता,
जलने वालों का कुछ हो नहीं सकता,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
■एक टिकट : सौ निकट■
■एक टिकट : सौ निकट■
*Author प्रणय प्रभात*
पापा की परी
पापा की परी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
प्यार हो जाय तो तकदीर बना देता है।
प्यार हो जाय तो तकदीर बना देता है।
Satish Srijan
Rap song 【5】
Rap song 【5】
Nishant prakhar
माँ का महत्व
माँ का महत्व
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कभी कभी खुद को खो देते हैं,
कभी कभी खुद को खो देते हैं,
Ashwini sharma
Budhape ki lathi samjhi
Budhape ki lathi samjhi
Sakshi Tripathi
बदला सा......
बदला सा......
Kavita Chouhan
" लक्ष्य सिर्फ परमात्मा ही हैं। "
Aryan Raj
पहाड़ी भाषा काव्य ( संग्रह )
पहाड़ी भाषा काव्य ( संग्रह )
श्याम सिंह बिष्ट
क्या ढूढे मनुवा इस बहते नीर में
क्या ढूढे मनुवा इस बहते नीर में
rekha mohan
“POLITICAL THINKING COULD BE ALSO A HOBBY”
“POLITICAL THINKING COULD BE ALSO A HOBBY”
DrLakshman Jha Parimal
ज़हर ही ज़हर है और जीना भी है,
ज़हर ही ज़हर है और जीना भी है,
Dr. Rajiv
सोदा जब गुरू करते है तब बडे विध्वंस होते है
सोदा जब गुरू करते है तब बडे विध्वंस होते है
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)
***
*** " हमारी इसरो शक्ति...! " ***
VEDANTA PATEL
अक्षय तृतीया ( आखा तीज )
अक्षय तृतीया ( आखा तीज )
डॉ.सीमा अग्रवाल
💐अज्ञात के प्रति-143💐
💐अज्ञात के प्रति-143💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आत्मा शरीर और मन
आत्मा शरीर और मन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
काश़ वो वक़्त लौट कर
काश़ वो वक़्त लौट कर
Dr fauzia Naseem shad
मैं हूँ ना
मैं हूँ ना
gurudeenverma198
एक अच्छी हीलर, उपचारक होती हैं स्त्रियां
एक अच्छी हीलर, उपचारक होती हैं स्त्रियां
Manu Vashistha
जलाने दो चराग हमे अंधेरे से अब डर लगता है
जलाने दो चराग हमे अंधेरे से अब डर लगता है
Vishal babu (vishu)
शे'र
शे'र
Anis Shah
*थियोसॉफिकल सोसायटी  से मेरा संपर्क*
*थियोसॉफिकल सोसायटी से मेरा संपर्क*
Ravi Prakash
Loading...