Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Jan 2024 · 2 min read

नेम प्रेम का कर ले बंधु

नेम प्रेम का कर ले बंधु होगा जग से पार
प्रेम बिना है सूना सब संसार
राम नाम है प्रेम सुनो मेरे सांवरिया
राम नाम की नित्य भरो तुम गागरिया
राम नाम हृदय अंगम कर लो, पा जाओगे पार
राम बिना यह जीवन है बेकार
नेम प्रेम का कर ले बंधु होगा जग से पार
राम नाम की महिमा न्यारी
सकल सृष्टि एक सुंदर क्यारी, राम रची है प्यारी प्यारी
विरन विरन के फूल खिले हैं, देखो नयन पसार
रचना है सब राम नाम की, सबसे करले प्यार
राम नाम ही है इस जग में, जीवन का आधार
नेम प्रेम का कर ले बंधु होगा जग से पार
कण कण में है राम सुनो मेरे सांवरिया
बनो बिंदु से सिंधु, भरो नित गागरिया
राम नाम के अमृत से, सींचो ये संसार
नेम प्रेम का कर ले बंधु, होगा जग से पार
राम नाम है प्रेम का बंधु, एक बड़ा उपहार
राम नाम बिन नहीं जगत में, जीवन का उद्धार
राम नाम का दीप जला कर, करले मन उजियार
नेम प्रेम का कर ले बंधु, होगा जग से पार
प्रेम की सृष्टि, प्रेम की दृष्टि, प्रेमहि सहित निहार
नेम प्रेम का करले बंधु, होगा जग से पार
प्रेम सहित निष्काम, राम जप सांवरिया
हर घट भीतर राम बसे, मन बावरिया
मानस तन दुर्लभ है बंधु, मत खोना बेकार
नेम प्रेम का कर ले बंधु, होगा जग से पार
प्रेम राम है, प्रेम श्याम है, प्रेम है सब संसार
प्रेम सहित इस जग में रहना, प्रेम से होना पार
प्रेम जगत का सार है बंधु, मानव जनम सुधार
नेम प्रेम का करले बंधु, होगा जग से पार

सुरेश कुमार चतुर्वेदी

Language: Hindi
1 Like · 67 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेश कुमार चतुर्वेदी
View all
You may also like:
दशहरा
दशहरा
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
मुस्कान है
मुस्कान है
Dr. Sunita Singh
सुबह का भूला
सुबह का भूला
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मुझे     उम्मीद      है ए मेरे    दोस्त.   तुम.  कुछ कर जाओग
मुझे उम्मीद है ए मेरे दोस्त. तुम. कुछ कर जाओग
Anand.sharma
* मन में कोई बात न रखना *
* मन में कोई बात न रखना *
surenderpal vaidya
जब आसमान पर बादल हों,
जब आसमान पर बादल हों,
Shweta Soni
2578.पूर्णिका
2578.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
💐प्रेम कौतुक-229💐
💐प्रेम कौतुक-229💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
संवेदनशील होना किसी भी व्यक्ति के जीवन का महान गुण है।
संवेदनशील होना किसी भी व्यक्ति के जीवन का महान गुण है।
Mohan Pandey
तुम जहा भी हो,तुरंत चले आओ
तुम जहा भी हो,तुरंत चले आओ
Ram Krishan Rastogi
अजीज़ सारे देखते रह जाएंगे तमाशाई की तरह
अजीज़ सारे देखते रह जाएंगे तमाशाई की तरह
_सुलेखा.
कौन जिम्मेदार इन दीवार के दरारों का,
कौन जिम्मेदार इन दीवार के दरारों का,
कवि दीपक बवेजा
हमारी हार के किस्सों के हिस्से हो गए हैं
हमारी हार के किस्सों के हिस्से हो गए हैं
सिद्धार्थ गोरखपुरी
When you think it's worst
When you think it's worst
Ankita Patel
जिंदगी का सवाल आया है।
जिंदगी का सवाल आया है।
Dr fauzia Naseem shad
I Have No Desire To Be Found At Any Cost
I Have No Desire To Be Found At Any Cost
Manisha Manjari
■ आज की बात
■ आज की बात
*Author प्रणय प्रभात*
" मानस मायूस "
Dr Meenu Poonia
मैं भारत हूं
मैं भारत हूं
Ms.Ankit Halke jha
गाँव कुछ बीमार सा अब लग रहा है
गाँव कुछ बीमार सा अब लग रहा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
"याद रहे"
Dr. Kishan tandon kranti
मुझे तुझसे महब्बत है, मगर मैं कह नहीं सकता
मुझे तुझसे महब्बत है, मगर मैं कह नहीं सकता
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पितृ दिवस134
पितृ दिवस134
Dr Archana Gupta
*प्लीज और सॉरी की महिमा {हास्य-व्यंग्य}*
*प्लीज और सॉरी की महिमा {हास्य-व्यंग्य}*
Ravi Prakash
प्यार/प्रेम की कोई एकमत परिभाषा कतई नहीं हो सकती।
प्यार/प्रेम की कोई एकमत परिभाषा कतई नहीं हो सकती।
Dr MusafiR BaithA
चांद चेहरा मुझे क़ुबूल नहीं - संदीप ठाकुर
चांद चेहरा मुझे क़ुबूल नहीं - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
महा कवि वृंद रचनाकार,
महा कवि वृंद रचनाकार,
Neelam Sharma
"जलाओ दीप घंटा भी बजाओ याद पर रखना
आर.एस. 'प्रीतम'
नारी तेरे रूप अनेक
नारी तेरे रूप अनेक
विजय कुमार अग्रवाल
नज़ारे स्वर्ग के लगते हैं
नज़ारे स्वर्ग के लगते हैं
Neeraj Agarwal
Loading...