Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Apr 2024 · 1 min read

“नजरों से न गिरना”

“नजरों से न गिरना”
ईमान किसी हिस्से में
अगर बचे हों शेष
तो ऐ मेरे दोस्त
मरना पड़े तो मरना,
मगर चाहे जो हो
नजरों से तुम न गिरना।

1 Like · 1 Comment · 61 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
वक्त जब बदलता है
वक्त जब बदलता है
Surinder blackpen
साल गिरह की मुबारक बाद तो सब दे रहे है
साल गिरह की मुबारक बाद तो सब दे रहे है
shabina. Naaz
आने वाले सभी अभियान सफलता का इतिहास रचेँ
आने वाले सभी अभियान सफलता का इतिहास रचेँ
इंजी. संजय श्रीवास्तव
नाम उल्फत में तेरे जिंदगी कर जाएंगे।
नाम उल्फत में तेरे जिंदगी कर जाएंगे।
Phool gufran
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
धिक्कार
धिक्कार
Dr. Mulla Adam Ali
मेघ
मेघ
Rakesh Rastogi
चलो जिंदगी का कारवां ले चलें
चलो जिंदगी का कारवां ले चलें
VINOD CHAUHAN
मेरे हैं बस दो ख़ुदा
मेरे हैं बस दो ख़ुदा
The_dk_poetry
किसी का प्यार मिल जाए ज़ुदा दीदार मिल जाए
किसी का प्यार मिल जाए ज़ुदा दीदार मिल जाए
आर.एस. 'प्रीतम'
#सृजनएजुकेशनट्रस्ट
#सृजनएजुकेशनट्रस्ट
Rashmi Ranjan
"खत"
Dr. Kishan tandon kranti
रिस्ता मवाद है
रिस्ता मवाद है
Dr fauzia Naseem shad
रामराज्य
रामराज्य
कार्तिक नितिन शर्मा
मनभावन बसंत
मनभावन बसंत
Pushpa Tiwari
अरे रामलला दशरथ नंदन
अरे रामलला दशरथ नंदन
Neeraj Mishra " नीर "
2945.*पूर्णिका*
2945.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जिंदगी और जीवन तो कोरा कागज़ होता हैं।
जिंदगी और जीवन तो कोरा कागज़ होता हैं।
Neeraj Agarwal
जीवन
जीवन
Monika Verma
■दोहा■
■दोहा■
*प्रणय प्रभात*
You relax on a plane, even though you don't know the pilot.
You relax on a plane, even though you don't know the pilot.
पूर्वार्थ
अपना नैनीताल...
अपना नैनीताल...
डॉ.सीमा अग्रवाल
कहने को तो बहुत लोग होते है
कहने को तो बहुत लोग होते है
रुचि शर्मा
एक रूपक ज़िन्दगी का,
एक रूपक ज़िन्दगी का,
Radha shukla
*सर्दी (बाल कविता)*
*सर्दी (बाल कविता)*
Ravi Prakash
बुंदेली दोहा -तर
बुंदेली दोहा -तर
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
अक्स आंखों में तेरी है प्यार है जज्बात में। हर तरफ है जिक्र में तू,हर ज़ुबां की बात में।
अक्स आंखों में तेरी है प्यार है जज्बात में। हर तरफ है जिक्र में तू,हर ज़ुबां की बात में।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
दूषित न कर वसुंधरा को
दूषित न कर वसुंधरा को
goutam shaw
सत्तर भी है तो प्यार की कोई उमर नहीं।
सत्तर भी है तो प्यार की कोई उमर नहीं।
सत्य कुमार प्रेमी
Loading...