Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jun 2023 · 1 min read

नए मुहावरे का चाँद

नीम रौशनी चाँद की
शीतल होती रात की

नीम अंधेरा चाँद का
गहना सा है धरती का

नीम रौशनी और अंधेरा
दुन्नो मिल जब डाले डेरा
धरती जाती सँवर ग़ज़ब
चाँद का इतराना इस पर
लागे भला भोरा करतब

चाँद धरा से दूर न अब
पुए पकते न गुड़ के अब
सूत न काटती अब बुढ़िया
पानी गर मिल जाए वहाँ तो
धरती सी हो जाए चंदा की दुनिया

धरती सा चाँद का होना ठीक नहीं
कि धरती की दुनिया ठीक नहीं

नादां बच्चे भले अब भी ठगे जाएं
चाँद कहानियां अब भी सुनी जाएं
चाँद कथाएं रहें भले अब भी
बच्चे भी फुसलाये जाएं सही

सगरे रस्मी ज्ञान अब चांद के फीके
विज्ञान ने खोल डाले जब रहस्य समूचे

चांद सा रौशन चेहरा जब बोलो
सोचो समझो और तर्क पर तौलो
छुपे गड्ढे ज्यों चाँद के चेहरे के पीछे
रौशन चेहरे का यूँ मतलब क्या
जबतक उसके पीछे के दाग न रीते।

Language: Hindi
1 Like · 137 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr MusafiR BaithA
View all
You may also like:
चंदा मामा (बाल कविता)
चंदा मामा (बाल कविता)
Dr. Kishan Karigar
आस नहीं मिलने की फिर भी,............ ।
आस नहीं मिलने की फिर भी,............ ।
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
■ एक महीन सच्चाई।।
■ एक महीन सच्चाई।।
*Author प्रणय प्रभात*
, गुज़रा इक ज़माना
, गुज़रा इक ज़माना
Surinder blackpen
जब हमें तुमसे मोहब्बत ही नहीं है,
जब हमें तुमसे मोहब्बत ही नहीं है,
Dr. Man Mohan Krishna
ईष्र्या
ईष्र्या
Sûrëkhâ
बसंत
बसंत
Bodhisatva kastooriya
बचपन याद बहुत आता है
बचपन याद बहुत आता है
VINOD CHAUHAN
मेरे मौन का मान कीजिए महोदय,
मेरे मौन का मान कीजिए महोदय,
शेखर सिंह
*
*"परछाई"*
Shashi kala vyas
"बचपन याद आ रहा"
Sandeep Kumar
कैसा अजीब है
कैसा अजीब है
हिमांशु Kulshrestha
ज़माने   को   समझ   बैठा,  बड़ा   ही  खूबसूरत है,
ज़माने को समझ बैठा, बड़ा ही खूबसूरत है,
संजीव शुक्ल 'सचिन'
पहला श्लोक ( भगवत गीता )
पहला श्लोक ( भगवत गीता )
Bhupendra Rawat
जिस समय से हमारा मन,
जिस समय से हमारा मन,
नेताम आर सी
मुकद्दर
मुकद्दर
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
मेनका की मी टू
मेनका की मी टू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सफ़र में लाख़ मुश्किल हो मगर रोया नहीं करते
सफ़र में लाख़ मुश्किल हो मगर रोया नहीं करते
Johnny Ahmed 'क़ैस'
उसे आज़ का अर्जुन होना चाहिए
उसे आज़ का अर्जुन होना चाहिए
Sonam Puneet Dubey
श्री राम का जीवन– गीत
श्री राम का जीवन– गीत
Abhishek Soni
हार मानूंगा नही।
हार मानूंगा नही।
Rj Anand Prajapati
10 Habits of Mentally Strong People
10 Habits of Mentally Strong People
पूर्वार्थ
जिंदगी की एक मुलाक़ात से मौसम बदल गया।
जिंदगी की एक मुलाक़ात से मौसम बदल गया।
Phool gufran
23/84.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/84.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बर्फ़ीली घाटियों में सिसकती हवाओं से पूछो ।
बर्फ़ीली घाटियों में सिसकती हवाओं से पूछो ।
Manisha Manjari
*सब से महॅंगा इस समय, पुस्तक का छपवाना हुआ (मुक्तक)*
*सब से महॅंगा इस समय, पुस्तक का छपवाना हुआ (मुक्तक)*
Ravi Prakash
अहोई अष्टमी का व्रत
अहोई अष्टमी का व्रत
Harminder Kaur
*दादी चली गई*
*दादी चली गई*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"गम"
Dr. Kishan tandon kranti
आत्म मंथन
आत्म मंथन
Dr. Mahesh Kumawat
Loading...