Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 May 2016 · 1 min read

धोखे जीवन में हमको रुलाते बहुत

धोखे जीवन में हमको रुलाते बहुत
पर सबक भी नये ये सिखाते बहुत

आज हम पर बुरा वक़्त क्या आ गया
फूल भी शूल अपने चुभाते बहुत

है न परवाह रिश्तों की जिनको यहाँ
लोग ऐसे ही दिल को दुखाते बहुत

मुफलिसी में ही पहचानते अपनें हम
धन से रिश्ते यहाँ पर बनाते बहुत

राम मुँह में बगल में जो रखते छुरी
जख्म दिल को बड़े वो दे जाते बहुत

बीतती जा रही ज़िन्दगी की सुबह
साँझ के घिर अँधेरे डराते बहुत

‘अर्चना’ काम करते रहें जो गलत
ढोंग पूजा का कर वो दिखाते बहुत

डॉ अर्चना गुप्ता

1 Like · 4 Comments · 556 Views
You may also like:
पथ जीवन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
हकीकत से रूबरू होता क्यों नहीं
कवि दीपक बवेजा
*अर्थ करवाचौथ का (गीतिका)*
Ravi Prakash
शायद अब ज़िंदगी में
Dr fauzia Naseem shad
काली सी बदरिया छाई रे
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
चांदनी की चादर।
Taj Mohammad
कभी कभी मन करता है या दया आती है और...
Nav Lekhika
रक्षा के पावन बंधन का, अमर प्रेम त्यौहार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बाबा फ़क़ीर
Buddha Prakash
यही तो इश्क है पगले
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जीवन के उस पार मिलेंगे
Shivkumar Bilagrami
जो रूठ गए तुमसे, तो क्या मना पाओगे, ज़ख्मों पर...
Manisha Manjari
मौसम
Surya Barman
हिजाब विरोधी आंदोलन
Shekhar Chandra Mitra
आने वाला वर्ष भी दे हमें भरपूर उत्साह
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
मदहोशी से निकलूं कैसे
Seema 'Tu hai na'
इरादा
Shivam Sharma
"दूब"
Dr Meenu Poonia
🏄तुम ड़रो नहीं स्व जन्म करो🏋️
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
सफलता
Anamika Singh
उम्मीद पूर्ण व सुखद जिंदगी
Aditya Prakash
हाइकु:-(राम-रावण युद्ध)
Prabhudayal Raniwal
विभाजन की पीड़ा
ओनिका सेतिया 'अनु '
ज़मीं पे रहे या फलक पे उड़े हम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
निकलते हो अब तो तुम
gurudeenverma198
आया है प्यारा सावन
Dr Archana Gupta
*दे दो पेंशन सरकार*
मानक लाल"मनु"
कन्यादान लिखना भी कहानी हो गई
VINOD KUMAR CHAUHAN
:::::::::खारे आँसू:::::::::
MSW Sunil SainiCENA
ये हरियाली
Taran Singh Verma
Loading...