Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Feb 2024 · 1 min read

दोहा

दोहा
____________________________
पकड़े रहिए सर्वदा, सद्विवेक का हाथ
सब की रक्षा कर रहे, प्रभु श्री दीनानाथ
———–
रचयिता: रवि प्रकाश, रामपुर उत्तर प्रदेश

Language: Hindi
107 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
प्यार के
प्यार के
हिमांशु Kulshrestha
एक बूढ़ा बरगद ही अकेला रहा गया है सफ़र में,
एक बूढ़ा बरगद ही अकेला रहा गया है सफ़र में,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
*गीता के दर्शन में पुनर्जन्म की अवधारणा*
*गीता के दर्शन में पुनर्जन्म की अवधारणा*
Ravi Prakash
2462.पूर्णिका
2462.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
सावन का महीना है भरतार
सावन का महीना है भरतार
Ram Krishan Rastogi
पुष्प सम तुम मुस्कुराओ तो जीवन है ।
पुष्प सम तुम मुस्कुराओ तो जीवन है ।
Neelam Sharma
तुम हो तो मैं हूँ,
तुम हो तो मैं हूँ,
लक्ष्मी सिंह
सांत्वना
सांत्वना
भरत कुमार सोलंकी
हड़ताल
हड़ताल
नेताम आर सी
दिव्य ज्योति मुखरित भेल ,ह्रदय जुड़ायल मन हर्षित भेल !पाबि ले
दिव्य ज्योति मुखरित भेल ,ह्रदय जुड़ायल मन हर्षित भेल !पाबि ले
DrLakshman Jha Parimal
झरना का संघर्ष
झरना का संघर्ष
Buddha Prakash
नहीं रखा अंदर कुछ भी दबा सा छुपा सा
नहीं रखा अंदर कुछ भी दबा सा छुपा सा
Rekha Drolia
अन-मने सूखे झाड़ से दिन.
अन-मने सूखे झाड़ से दिन.
sushil yadav
खोखला वर्तमान
खोखला वर्तमान
Mahender Singh
"नेशनल कैरेक्टर"
Dr. Kishan tandon kranti
आपके मन की लालसा हर पल आपके साहसी होने का इंतजार करती है।
आपके मन की लालसा हर पल आपके साहसी होने का इंतजार करती है।
Paras Nath Jha
कर्णधार
कर्णधार
Shyam Sundar Subramanian
मुस्कुराते रहे
मुस्कुराते रहे
Dr. Sunita Singh
नौका विहार
नौका विहार
Dr Parveen Thakur
वर्तमान के युवा शिक्षा में उतनी रुचि नहीं ले रहे जितनी वो री
वर्तमान के युवा शिक्षा में उतनी रुचि नहीं ले रहे जितनी वो री
Rj Anand Prajapati
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
हमारा संघर्ष
हमारा संघर्ष
पूर्वार्थ
जितना आसान होता है
जितना आसान होता है
Harminder Kaur
इक नयी दुनिया दारी तय कर दे
इक नयी दुनिया दारी तय कर दे
सिद्धार्थ गोरखपुरी
‘‘शिक्षा में क्रान्ति’’
‘‘शिक्षा में क्रान्ति’’
Mr. Rajesh Lathwal Chirana
तन्हायी
तन्हायी
Dipak Kumar "Girja"
सरस्वती वंदना-4
सरस्वती वंदना-4
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मोहब्बत।
मोहब्बत।
Taj Mohammad
*मुहब्बत के मोती*
*मुहब्बत के मोती*
आर.एस. 'प्रीतम'
देश और जनता~
देश और जनता~
दिनेश एल० "जैहिंद"
Loading...