Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 May 2024 · 1 min read

दोहा पंचक. . . .

दोहा पंचक. . . .

हर बंधन से मुक्ति ही, कहलाती निर्वाण ।
आदि – अन्त के मध्य का, जीवन तन में प्राण ।।

श्वास नाद है जीव के, जीवन का संवाद ।
नाद मौन जैसे हुई, मिटे सभी उन्माद ।।

तन में चलती साँस है, जीने का विश्वास ।
एक विभा है आस की, एक अंत की दास ।।

सुख- दुख का अभिलेख हैं, तन में चलती साँस ।
तन मिटता मिटती नहीं, इच्छाओं की प्यास ।।

मिटते ही लो हो गया, बोझ देह का नाम ।
धाम पुराना छोड़ कर, देह चली नव धाम ।।
मरघट अन्तिम धाम ।।

सुख जीवन की प्यास है, दुख, सुख का बनवास ।
दोनों का है जीव के, अन्तर्घट में वास ।।

सुशील सरना / 17-5-24

26 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कभी सोच है कि खुद को क्या पसन्द
कभी सोच है कि खुद को क्या पसन्द
पूर्वार्थ
वादा
वादा
Bodhisatva kastooriya
अपने-अपने काम का, पीट रहे सब ढोल।
अपने-अपने काम का, पीट रहे सब ढोल।
डॉ.सीमा अग्रवाल
वो गली भी सूनी हों गयीं
वो गली भी सूनी हों गयीं
The_dk_poetry
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
Where have you gone
Where have you gone
VINOD CHAUHAN
सच तो हम सभी होते हैं।
सच तो हम सभी होते हैं।
Neeraj Agarwal
उर्दू वर्किंग जर्नलिस्ट का पहला राष्ट्रिय सम्मेलन हुआ आयोजित।
उर्दू वर्किंग जर्नलिस्ट का पहला राष्ट्रिय सम्मेलन हुआ आयोजित।
Shakil Alam
दोहा- अभियान
दोहा- अभियान
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बाहर-भीतर
बाहर-भीतर
Dhirendra Singh
फादर्स डे ( Father's Day )
फादर्स डे ( Father's Day )
Atul "Krishn"
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मेरे चेहरे से मेरे किरदार का पता नहीं चलता और मेरी बातों से
मेरे चेहरे से मेरे किरदार का पता नहीं चलता और मेरी बातों से
Ravi Betulwala
छंद मुक्त कविता : अनंत का आचमन
छंद मुक्त कविता : अनंत का आचमन
Sushila joshi
फागुन होली
फागुन होली
Khaimsingh Saini
साथ मेरे था
साथ मेरे था
Dr fauzia Naseem shad
ना जाने सुबह है या शाम,
ना जाने सुबह है या शाम,
Madhavi Srivastava
राम राज्य
राम राज्य
Shriyansh Gupta
🙅आज की भड़ास🙅
🙅आज की भड़ास🙅
*प्रणय प्रभात*
जय जय दुर्गा माता
जय जय दुर्गा माता
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
Ravi Prakash
डगर जिंदगी की
डगर जिंदगी की
Monika Yadav (Rachina)
सृष्टि का अंतिम सत्य प्रेम है
सृष्टि का अंतिम सत्य प्रेम है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दस्तूर ए जिंदगी
दस्तूर ए जिंदगी
AMRESH KUMAR VERMA
हर वक़्त तुम्हारी कमी सताती है
हर वक़्त तुम्हारी कमी सताती है
shabina. Naaz
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Neelofar Khan
"जीवन"
Dr. Kishan tandon kranti
चींटी रानी
चींटी रानी
Dr Archana Gupta
मै तो हूं मद मस्त मौला
मै तो हूं मद मस्त मौला
नेताम आर सी
चेहरे का यह सबसे सुन्दर  लिबास  है
चेहरे का यह सबसे सुन्दर लिबास है
Anil Mishra Prahari
Loading...