Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Sep 2016 · 1 min read

दुर्मिल सवैया :– चितचोर बड़ा बृजभान सखी !! -भाग -2

दुर्मिल सवैया :– भाग -2
चित चोर बड़ा बृजभान सखी !
मात्राभार :–
112 -112 -112 -112
112 -112 -112 -112

!! 4 !!

धरुं धीर शरीर अधीर हुआ
मन हार गयो मुसकान सखी !

सिर मोर मुखौट लटें लटकी
बड़ सुन्दर है परिधान सखी !

कर चक्र धरे कमलाकर वो
भुज सौ गज से बलवान सखी !

सब बाल सखा गुणगान करें
जब नाग बनो जलयान सखी !

!! 5 !!
छिति में जल में अरु अम्बर में
चहुंओर चला जसगान सखी !

बृज का नंदलाल गुपाल अ है
चितचोर बड़ा बृजभान सखी !!

गिरिधारि कहो मुरलीघर वो
सब नाम जपें भगवान सखी !

धन धान्य अपार भरा बृज में
खुशहाल सभी खलिहान सखी !

कवि :– अनुज तिवारी “इन्दवार”

Language: Hindi
Tag: कविता
1 Like · 508 Views
You may also like:
कितनी पीड़ा कितने भागीरथी
सूर्यकांत द्विवेदी
“ शिष्टता के धेने रहू ”
DrLakshman Jha Parimal
आरज़ू है बस ख़ुदा
Dr. Pratibha Mahi
घर घर तिरंगा हो।
Rajesh Kumar Arjun
✍️मेरा जिक्र हुवा✍️
'अशांत' शेखर
लेखनी
लक्ष्मी सिंह
जंगल के दावेदार
Shekhar Chandra Mitra
सत्यमंथन
मनोज कर्ण
#पंजाबनगर_शिव_मंदिर
Ravi Prakash
आत्मविश्वास
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
जहां चाह वहां राह
ओनिका सेतिया 'अनु '
तिनका तिनका करके।
Taj Mohammad
क्यों करूँ नफरत मैं इस अंधेरी रात से।
Manisha Manjari
'कृषि' (हरिहरण घनाक्षरी)
Godambari Negi
गरीबी पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
सच का सामना
Shyam Sundar Subramanian
अनमोल घड़ी
Prabhudayal Raniwal
पिता
Rajiv Vishal
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग६]
Anamika Singh
एक पल में जीना सीख ले बंदे
Dr.sima
महामारी covid पर
shabina. Naaz
ताकि याद करें लोग हमारा प्यार
gurudeenverma198
लिख दो ऐसा गीत प्रेम का, हर बाला राधा हो...
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"भीमसार"
Dushyant Kumar
जीवन
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
आओगे मेरे द्वार कभी
Kavita Chouhan
वेदनापूर्ण लय है
Varun Singh Gautam
प्रिय आदर्श शिक्षक
इंजी. लोकेश शर्मा (लेखक)
कहीं पे तो होगा नियंत्रण !
Ajit Kumar "Karn"
जब से देखा है तुमको
Ram Krishan Rastogi
Loading...