Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Jan 2024 · 1 min read

तेरे दरबार आया हूँ

छोर सारी दुनियाँ, तेरे दरबार आया हूँ।
मुझे दर्शन दिखा मैया, मैया मैं पहलीबार आया हूँ।।

कोई मेरा सहारा ना, मेरा बस तू सहारा है
सारी दुनियाँ से अच्छा माँ, तेरा दरबार प्यरा है
आज तेरे लिय मैया मैं चुनरी लाल लाया हूँ।
छोर सारी दुनियाँ, तेरे दरबार आया हूँ।।

मेरे मन की कामना को, माँ तूही पुरा सकती
मेरी बिगड़ी हुई कामों को, माँ तूही बना सकती
जला दे आशा की किरणें, मैं पहलीबार आया हूँ।
छोर सारी दुनियाँ, तेरे दरबार आया हूँ।

माँ तेरे नाम की माला, सदा जपते ही रहता हूँ
तेरी महिमा का गान हरपल, मैं भजते ही रहता हूँ
बड़ा अज्ञान “बसंत” बेटा, बढ़ा दे ज्ञान आया हूँ।
छोर सारी दुनियाँ, तेरे दरबार आया हूँ।

✍️ बसंत भगवान राय
( धुन: जमाना छोड़ देंगे हम)

Language: Hindi
Tag: गीत
69 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Basant Bhagawan Roy
View all
You may also like:
श्री नेता चालीसा (एक व्यंग्य बाण)
श्री नेता चालीसा (एक व्यंग्य बाण)
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*नज़्म*
*नज़्म*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
न जाने क्या ज़माना चाहता है
न जाने क्या ज़माना चाहता है
Dr. Alpana Suhasini
■ सुबह की सलाह।
■ सुबह की सलाह।
*प्रणय प्रभात*
आप और हम जीवन के सच....…...एक कल्पना विचार
आप और हम जीवन के सच....…...एक कल्पना विचार
Neeraj Agarwal
जेठ की दुपहरी में
जेठ की दुपहरी में
Shweta Soni
3495.🌷 *पूर्णिका* 🌷
3495.🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
लखनऊ शहर
लखनऊ शहर
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
*राजा दशरथ (कुंडलिया)*
*राजा दशरथ (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मैं नहीं तो कोई और सही
मैं नहीं तो कोई और सही
Shekhar Chandra Mitra
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
होता है तेरी सोच का चेहरा भी आईना
होता है तेरी सोच का चेहरा भी आईना
Dr fauzia Naseem shad
भव- बन्धन
भव- बन्धन
Dr. Upasana Pandey
दुनिया  की बातों में न उलझा  कीजिए,
दुनिया की बातों में न उलझा कीजिए,
करन ''केसरा''
बेटी परायो धन बताये, पिहर सु ससुराल मे पति थम्माये।
बेटी परायो धन बताये, पिहर सु ससुराल मे पति थम्माये।
Anil chobisa
"स्वार्थ"
Dr. Kishan tandon kranti
बहें हैं स्वप्न आँखों से अनेकों
बहें हैं स्वप्न आँखों से अनेकों
सिद्धार्थ गोरखपुरी
एक तूही ममतामई
एक तूही ममतामई
Basant Bhagawan Roy
नई उम्मीद
नई उम्मीद
Pratibha Pandey
लव यू इंडिया
लव यू इंडिया
Kanchan Khanna
परिंदा हूं आसमां का
परिंदा हूं आसमां का
Praveen Sain
मुमकिन हो जाएगा
मुमकिन हो जाएगा
Amrita Shukla
वैसे कार्यों को करने से हमेशा परहेज करें जैसा कार्य आप चाहते
वैसे कार्यों को करने से हमेशा परहेज करें जैसा कार्य आप चाहते
Paras Nath Jha
तमन्ना थी मैं कोई कहानी बन जाऊॅ॑
तमन्ना थी मैं कोई कहानी बन जाऊॅ॑
VINOD CHAUHAN
एक हैसियत
एक हैसियत
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
*ये बिल्कुल मेरी मां जैसी है*
*ये बिल्कुल मेरी मां जैसी है*
Shashi kala vyas
बल और बुद्धि का समन्वय हैं हनुमान ।
बल और बुद्धि का समन्वय हैं हनुमान ।
Vindhya Prakash Mishra
दोहा बिषय- दिशा
दोहा बिषय- दिशा
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
निजी कॉलेज/ विश्वविद्यालय
निजी कॉलेज/ विश्वविद्यालय
Sanjay ' शून्य'
*संवेदना*
*संवेदना*
Dr Shweta sood
Loading...