Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 May 2023 · 1 min read

“तुम्हारी हंसी” (Your Smile)

जब तुम होते हो तब सब अच्छा लगता है,
दुनिया के सारे गम भूल जाता हूँ मैं।
तुम्हारी मुस्कान, तुम्हारी हंसी,
मेरी रूह को सुकून देती हैं।

तुझसे मिलने के बाद ज़िन्दगी में,
मैं नए सपने देखता हूँ हर दिन।
तुम्हारे बिना ज़िन्दगी का कोई मज़ा नहीं,
तुम्हारे साथ हर पल मुझे अच्छा लगता है।

तुम मेरी ज़िन्दगी का एक अहम हिस्सा हो,
तुम्हारे बिना जीवन अधूरा हो जाता है।
मेरी ज़िन्दगी की हर खुशी तुमसे है,
तुमसे ही मेरे ज़िंदगी का हर मौसम है।

तुम जो होते हो, वो सबसे अलग होते हो,
तुम्हारे जैसा कोई नहीं होता है।
तुम मेरे लिए सबसे प्यारे हो,
तुमसे होती है मेरी सारी बातें।

जब तुम होते हो तब सब अच्छा लगता है,
दुनिया के सारे गम भूल जाता हूँ मैं।
तुम्हारी मुस्कान, तुम्हारी हंसी,
मेरी रूह को सुकून देती हैं।

250 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Sidhartha Mishra
View all
You may also like:
Wakt hi wakt ko batt  raha,
Wakt hi wakt ko batt raha,
Sakshi Tripathi
चाह ले....
चाह ले....
सिद्धार्थ गोरखपुरी
THE ANT
THE ANT
SURYA PRAKASH SHARMA
"मुखौटे"
इंदु वर्मा
कुदरत से मिलन , अद्धभुत मिलन।
कुदरत से मिलन , अद्धभुत मिलन।
Kuldeep mishra (KD)
कई युगों के बाद - दीपक नीलपदम्
कई युगों के बाद - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
दोस्ती.......
दोस्ती.......
Harminder Kaur
,,
,,
Sonit Parjapati
#विभाजन_दिवस
#विभाजन_दिवस
*Author प्रणय प्रभात*
गाँधी जी की अंगूठी (काव्य)
गाँधी जी की अंगूठी (काव्य)
Ravi Prakash
हमने सबको अपनाया
हमने सबको अपनाया
Vandna thakur
मैं कौन हूँ कैसा हूँ तहकीकात ना कर
मैं कौन हूँ कैसा हूँ तहकीकात ना कर
VINOD CHAUHAN
"खामोशी"
Dr. Kishan tandon kranti
पागल बना दिया
पागल बना दिया
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
* कुण्डलिया *
* कुण्डलिया *
surenderpal vaidya
आपका आकाश ही आपका हौसला है
आपका आकाश ही आपका हौसला है
Neeraj Agarwal
खुद से ज्यादा अहमियत
खुद से ज्यादा अहमियत
Dr Manju Saini
सवाल~
सवाल~
दिनेश एल० "जैहिंद"
मुझे कल्पनाओं से हटाकर मेरा नाता सच्चाई से जोड़ता है,
मुझे कल्पनाओं से हटाकर मेरा नाता सच्चाई से जोड़ता है,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हालातों से हारकर दर्द को लब्ज़ो की जुबां दी हैं मैंने।
हालातों से हारकर दर्द को लब्ज़ो की जुबां दी हैं मैंने।
अजहर अली (An Explorer of Life)
औरत तेरी गाथा
औरत तेरी गाथा
विजय कुमार अग्रवाल
हृदय की बेचैनी
हृदय की बेचैनी
Anamika Tiwari 'annpurna '
आखिर क्या कमी है मुझमें......??
आखिर क्या कमी है मुझमें......??
Keshav kishor Kumar
Hajipur
Hajipur
Hajipur
लक्ष्मी अग्रिम भाग में,
लक्ष्मी अग्रिम भाग में,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जिंदगी मौत से बत्तर भी गुज़री मैंने ।
जिंदगी मौत से बत्तर भी गुज़री मैंने ।
Phool gufran
3473🌷 *पूर्णिका* 🌷
3473🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
जिंदगी में सफ़ल होने से ज्यादा महत्वपूर्ण है कि जिंदगी टेढ़े
जिंदगी में सफ़ल होने से ज्यादा महत्वपूर्ण है कि जिंदगी टेढ़े
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दीवाली की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏💐
दीवाली की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏💐
Monika Verma
Loading...