Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Jun 2023 · 1 min read

जुनून

लक्ष्य पाने को जुनून होना चाहिए !

मंजिल पाना नहीं मुश्किल बस जुनून होना चाहिए,
निराश, उदास नहीं मन उपवन प्रसून होना चाहिए,
ललक हो जीवन में हर रोज कुछ नया करने की,
पतझड़ सा नहीं, हौसले में मानसून होना चाहिए !
कदम चूमेगी निश्चित सफलता एक दिन तुम्हारे,
स्वयं के लिए स्वयं का कठिन कानून होना चाहिए !
लक्ष्य पाने को जुनून होना चाहिए !

सतत प्रयत्न से ही निश्चित मंजिल पास आएगी,
अँधेरा भी होगा राह में, विकट बाधा भी आएगी,
आसान राह चलकर मंजिल पा ली तो मजा क्या है?
हर बार असफलता ही कैसे जीत जायेगी ?
ठान ली एक बार तो तेल निकल सकता है रेत से,
लक्ष्य को पा लेने तक क्यों शुकून होना चाहिए ?
लक्ष्य पाने को जुनून होना चाहिए !

नीरस जीवन क्यों जीना है हार की चादर ओढ़कर ?
श्रेष्ठ मानव हैं तो क्यों बैठना मन को सिकोड़ कर ?
प्रेरणा लेकर चलें कर्मपथ पर उस नन्हीं चिड़िया से,
जो अपना घोसला बनाती है तिनका-तिनका जोड़कर !
बार-बार हारकर भी हारती नहीं देखो उस चींटी को,
धमनियों में दौड़ता विश्वास भरा खून होना चाहिए !
लक्ष्य पाने को जुनून होना चाहिए !

– नवीन जोशी ‘नवल’

Language: Hindi
1 Like · 144 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from नवीन जोशी 'नवल'
View all
You may also like:
जितने धैर्यता, सहनशीलता और दृढ़ता के साथ संकल्पित संघ के स्व
जितने धैर्यता, सहनशीलता और दृढ़ता के साथ संकल्पित संघ के स्व
जय लगन कुमार हैप्पी
अनुभूत सत्य .....
अनुभूत सत्य .....
विमला महरिया मौज
" नारी का दुख भरा जीवन "
Surya Barman
"कोशिशो के भी सपने होते हैं"
Ekta chitrangini
"ये जिन्दगी"
Dr. Kishan tandon kranti
मर्दुम-बेज़ारी
मर्दुम-बेज़ारी
Shyam Sundar Subramanian
सीख गांव की
सीख गांव की
Mangilal 713
छीज रही है धीरे-धीरे मेरी साँसों की डोर।
छीज रही है धीरे-धीरे मेरी साँसों की डोर।
डॉ.सीमा अग्रवाल
निराली है तेरी छवि हे कन्हाई
निराली है तेरी छवि हे कन्हाई
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ख़ुद के प्रति कुछ कर्तव्य होने चाहिए
ख़ुद के प्रति कुछ कर्तव्य होने चाहिए
Sonam Puneet Dubey
जिंदा हूँ अभी मैं और याद है सब कुछ मुझको
जिंदा हूँ अभी मैं और याद है सब कुछ मुझको
gurudeenverma198
दिनाक़ 03/05/2024
दिनाक़ 03/05/2024
Satyaveer vaishnav
हृदय द्वार (कविता)
हृदय द्वार (कविता)
sandeep kumar Yadav
2552.*पूर्णिका**कामयाबी का स्वाद चखो*
2552.*पूर्णिका**कामयाबी का स्वाद चखो*
Dr.Khedu Bharti
भ्रूणहत्या
भ्रूणहत्या
Dr Parveen Thakur
जब तक दुख मिलता रहे,तब तक जिंदा आप।
जब तक दुख मिलता रहे,तब तक जिंदा आप।
Manoj Mahato
जिंदगी एक सफर सुहाना है
जिंदगी एक सफर सुहाना है
Suryakant Dwivedi
Janab hm log middle class log hai,
Janab hm log middle class log hai,
$úDhÁ MãÚ₹Yá
मैं सरिता अभिलाषी
मैं सरिता अभिलाषी
Pratibha Pandey
राष्ट्र निर्माता शिक्षक
राष्ट्र निर्माता शिक्षक
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
जुबान
जुबान
अखिलेश 'अखिल'
मेरी हैसियत
मेरी हैसियत
आर एस आघात
केशों से मुक्ता गिरे,
केशों से मुक्ता गिरे,
sushil sarna
17 जून 2019 को प्रथम वर्षगांठ पर रिया को हार्दिक बधाई
17 जून 2019 को प्रथम वर्षगांठ पर रिया को हार्दिक बधाई
Ravi Prakash
First impression is personality,
First impression is personality,
Mahender Singh
हालात ए शोख निगाहों से जब बदलती है ।
हालात ए शोख निगाहों से जब बदलती है ।
Phool gufran
हिंदी दिवस - विषय - दवा
हिंदी दिवस - विषय - दवा
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
रंगोली
रंगोली
Neelam Sharma
कर्म कभी माफ नहीं करता
कर्म कभी माफ नहीं करता
नूरफातिमा खातून नूरी
पिता के प्रति श्रद्धा- सुमन
पिता के प्रति श्रद्धा- सुमन
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
Loading...