Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 May 2024 · 1 min read

जी करता है , बाबा बन जाऊं – व्यंग्य

जी करता है बाबा बन जाऊं
बाबा बनके प्रॉपर्टी बनाऊं
अपना खुद का बिज़नेस चलाऊं
जी करता है , बाबा बन जाऊं

जी करता है , बाबा बन जाऊं
धर्म के नाम पर , लोगों को भटकाऊँ
आश्रम की आड़ में , रंगमहल बनाऊं
जी करता है , बाबा बन जाऊं

जी करता है , बाबा बन जाऊं
बाबा बनके वर्ल्ड टूर पर जाऊं
सेविकाओं की सेना सजाऊं
जी करता है , बाबा बन जाऊं

जी करता है , बाबा बन जाऊं
नेताओं को चरणों में झुकाऊं
भक्तों की प्रॉपर्टी अपने नाम पर कराऊँ
जी करता है , बाबा बन जाऊं

जी करता है , बाबा बन जाऊं
आइलैंड में रंगमहल बनाऊं
अंधभक्तों की सेना सजाऊँ
जी करता है , बाबा बन जाऊं

अनिल कुमार गुप्ता “अंजुम”

1 Like · 24 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
View all
You may also like:
मुहब्बत सचमें ही थी।
मुहब्बत सचमें ही थी।
Taj Mohammad
चाँद सी चंचल चेहरा🙏
चाँद सी चंचल चेहरा🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
सायलेंट किलर
सायलेंट किलर
Dr MusafiR BaithA
दोहे
दोहे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
पहला प्यार नहीं बदला...!!
पहला प्यार नहीं बदला...!!
Ravi Betulwala
*कर्म बंधन से मुक्ति बोध*
*कर्म बंधन से मुक्ति बोध*
Shashi kala vyas
** चिट्ठी आज न लिखता कोई **
** चिट्ठी आज न लिखता कोई **
surenderpal vaidya
#प्रातःवंदन
#प्रातःवंदन
*प्रणय प्रभात*
जब हम छोटे से बच्चे थे।
जब हम छोटे से बच्चे थे।
लक्ष्मी सिंह
माचिस
माचिस
जय लगन कुमार हैप्पी
ख्वाब
ख्वाब
Dinesh Kumar Gangwar
हिम्मत मत हारो, नए सिरे से फिर यात्रा शुरू करो, कामयाबी ज़रूर
हिम्मत मत हारो, नए सिरे से फिर यात्रा शुरू करो, कामयाबी ज़रूर
Nitesh Shah
परिवर्तन
परिवर्तन
Paras Nath Jha
*नशा सरकार का मेरे, तुम्हें आए तो बतलाना (मुक्तक)*
*नशा सरकार का मेरे, तुम्हें आए तो बतलाना (मुक्तक)*
Ravi Prakash
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
Dard-e-Madhushala
Dard-e-Madhushala
Tushar Jagawat
-- मंदिर में ड्रेस कोड़ --
-- मंदिर में ड्रेस कोड़ --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
जिंदगी बेहद रंगीन है और कुदरत का करिश्मा देखिए लोग भी रंग बद
जिंदगी बेहद रंगीन है और कुदरत का करिश्मा देखिए लोग भी रंग बद
Rekha khichi
Anand mantra
Anand mantra
Rj Anand Prajapati
आत्म मंथन
आत्म मंथन
Dr. Mahesh Kumawat
जम़ी पर कुछ फुहारें अब अमन की चाहिए।
जम़ी पर कुछ फुहारें अब अमन की चाहिए।
सत्य कुमार प्रेमी
ता थैया थैया थैया थैया,
ता थैया थैया थैया थैया,
Satish Srijan
मन मेरा मेरे पास नहीं
मन मेरा मेरे पास नहीं
Pratibha Pandey
बिना शर्त खुशी
बिना शर्त खुशी
Rohit yadav
विडंबना
विडंबना
Shyam Sundar Subramanian
दिल होता .ना दिल रोता
दिल होता .ना दिल रोता
Vishal Prajapati
छोड़ जाते नही पास आते अगर
छोड़ जाते नही पास आते अगर
कृष्णकांत गुर्जर
हमको अब पढ़ने स्कूल जाना है
हमको अब पढ़ने स्कूल जाना है
gurudeenverma198
3019.*पूर्णिका*
3019.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"तापमान"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...