Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Jun 2023 · 1 min read

जीवन का एक और बसंत

मुक्तक
——–
(१)
पल-क्षण, दिवस, मास बहु बीते, वर्ष एक फिर बीत गया,
खारे-मीठे अनुभव का भी, बजता नव संगीत गया।
चलते चलते जीवन पथ पर, जब नैराश्य हराने आता,
मातु शारदा कहती हैं तब, ले तू फिर से जीत गया।।

(२)
जीवन का सहचर बन अनुभव, आगे बढ़ता जाता है,
कभी सुखद पल भी देता, मायूस कभी कर जाता है।
किंतु दुःख दारुण दे चाहे, प्रसन्नता अतिशय आये,
तू ही साथी सुखद सफर का, तुझसे गहरा नाता है।।

✍️ नवीन जोशी ‘नवल’

Language: Hindi
3 Likes · 367 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from नवीन जोशी 'नवल'
View all
You may also like:
खून के आंसू रोये
खून के आंसू रोये
Surinder blackpen
ढूंढें .....!
ढूंढें .....!
Sangeeta Beniwal
मुझ पर तुम्हारे इश्क का साया नहीं होता।
मुझ पर तुम्हारे इश्क का साया नहीं होता।
सत्य कुमार प्रेमी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
DR ARUN KUMAR SHASTRI
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बिल्ली मौसी (बाल कविता)
बिल्ली मौसी (बाल कविता)
नाथ सोनांचली
Perceive Exams as a festival
Perceive Exams as a festival
Tushar Jagawat
राष्ट्रप्रेम
राष्ट्रप्रेम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
भय के कारण सच बोलने से परहेज न करें,क्योंकि अन्त में जीत सच
भय के कारण सच बोलने से परहेज न करें,क्योंकि अन्त में जीत सच
Babli Jha
“ अपने प्रशंसकों और अनुयायियों को सम्मान दें
“ अपने प्रशंसकों और अनुयायियों को सम्मान दें"
DrLakshman Jha Parimal
घर एक मंदिर🌷🙏
घर एक मंदिर🌷🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
2899.*पूर्णिका*
2899.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
प्रेम पर्व आया सखी
प्रेम पर्व आया सखी
लक्ष्मी सिंह
कहीं पहुंचने
कहीं पहुंचने
Ranjana Verma
शून्य
शून्य
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
"सन्देशा भेजने हैं मुझे"
Dr. Kishan tandon kranti
जब तू रूठ जाता है
जब तू रूठ जाता है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
फाग (बुंदेली गीत)
फाग (बुंदेली गीत)
umesh mehra
सबरी के जूठे बेर चखे प्रभु ने उनका उद्धार किया।
सबरी के जूठे बेर चखे प्रभु ने उनका उद्धार किया।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
काश कही ऐसा होता
काश कही ऐसा होता
Swami Ganganiya
एक उदासी
एक उदासी
Shweta Soni
*कुछ रंग लगाओ जी, हमारे घर भी आओ जी (गीत)*
*कुछ रंग लगाओ जी, हमारे घर भी आओ जी (गीत)*
Ravi Prakash
😊 लघु कथा :--
😊 लघु कथा :--
*Author प्रणय प्रभात*
अजनबी जैसा हमसे
अजनबी जैसा हमसे
Dr fauzia Naseem shad
बाक़ी है..!
बाक़ी है..!
Srishty Bansal
Khahisho ki kashti me savar hokar ,
Khahisho ki kashti me savar hokar ,
Sakshi Tripathi
खुद के हाथ में पत्थर,दिल शीशे की दीवार है।
खुद के हाथ में पत्थर,दिल शीशे की दीवार है।
Priya princess panwar
💐प्रेम कौतुक-156💐
💐प्रेम कौतुक-156💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
योग और नीरोग
योग और नीरोग
Dr Parveen Thakur
ये   दुनिया  है  एक  पहेली
ये दुनिया है एक पहेली
कुंवर तुफान सिंह निकुम्भ
हदें
हदें
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
Loading...