Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jul 2023 · 1 min read

*जीवन का आधारभूत सच, जाना-पहचाना है (हिंदी गजल)*

जीवन का आधारभूत सच, जाना-पहचाना है (हिंदी गजल)

1)
जीवन का आधारभूत सच, जाना-पहचाना है
जग से गए सभी ज्यों, वैसे हम को भी जाना है
2)
अमर नहीं हो सकता तन, कोई चाहे कुछ कर ले
एक दिवस संध्या होगी, फिर सूरज कब आना है
3)
पता नहीं परलोक कहॉं, हम मरण बाद जाऍंगे
चित्र वहॉं का रीति-नीति, सब ही कुछ अनजाना है
4)
गहन कर्म की गति अद्भुत, कब जान सका कोई
पुनर्जन्म का चक्र जटिल, विद्वानों ने माना है
5)
विश्वरूप जब देखी छवि, अर्जुन ने केशव की
देखा महाकाल का वह, भीतर छिपा ठिकाना है

रचयिता रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

314 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
सबक
सबक
manjula chauhan
कैसे कहूँ किसको कहूँ
कैसे कहूँ किसको कहूँ
DrLakshman Jha Parimal
दर जो आली-मकाम होता है
दर जो आली-मकाम होता है
Anis Shah
★किसान ★
★किसान ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
पत्र
पत्र
लक्ष्मी सिंह
आशीर्वाद
आशीर्वाद
Dr Parveen Thakur
अब आदमी के जाने कितने रंग हो गए।
अब आदमी के जाने कितने रंग हो गए।
सत्य कुमार प्रेमी
ग़ज़ल
ग़ज़ल
नितिन पंडित
* सुन्दर झुरमुट बांस के *
* सुन्दर झुरमुट बांस के *
surenderpal vaidya
जिंदगी
जिंदगी
Sangeeta Beniwal
दिल का हर अरमां।
दिल का हर अरमां।
Taj Mohammad
कैसी लगी है होड़
कैसी लगी है होड़
Sûrëkhâ
"दरवाजा"
Dr. Kishan tandon kranti
ਮੁਕ ਜਾਣੇ ਨੇ ਇਹ ਸਾਹ
ਮੁਕ ਜਾਣੇ ਨੇ ਇਹ ਸਾਹ
Surinder blackpen
हर लम्हा दास्ताँ नहीं होता ।
हर लम्हा दास्ताँ नहीं होता ।
sushil sarna
शेखर सिंह
शेखर सिंह
शेखर सिंह
अजब गजब
अजब गजब
साहिल
संवेदनाएं
संवेदनाएं
Dr.Pratibha Prakash
*सुंदर भरत चरित्र (कुंडलिया)*
*सुंदर भरत चरित्र (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
(21)
(21) "ऐ सहरा के कैक्टस ! *
Kishore Nigam
दहेज.... हमारी जरूरत
दहेज.... हमारी जरूरत
Neeraj Agarwal
Honesty ki very crucial step
Honesty ki very crucial step
Sakshi Tripathi
अपराध बोध (लघुकथा)
अपराध बोध (लघुकथा)
दुष्यन्त 'बाबा'
हृदय के राम
हृदय के राम
Er. Sanjay Shrivastava
पिता मेंरे प्राण
पिता मेंरे प्राण
Arti Bhadauria
माँ महान है
माँ महान है
Dr. Man Mohan Krishna
क्या मिला मुझको उनसे
क्या मिला मुझको उनसे
gurudeenverma198
रामचरितमानस दर्शन : एक पठनीय समीक्षात्मक पुस्तक
रामचरितमानस दर्शन : एक पठनीय समीक्षात्मक पुस्तक
श्रीकृष्ण शुक्ल
कैसै कह दूं
कैसै कह दूं
Dr fauzia Naseem shad
बिहार से एक महत्वपूर्ण दलित आत्मकथा का प्रकाशन / MUSAFIR BAITHA
बिहार से एक महत्वपूर्ण दलित आत्मकथा का प्रकाशन / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
Loading...