Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Oct 2022 · 1 min read

जिंदगी की डगर में मुझको

जिंदगी की डगर में मुझको, ऐसे ऐसे भी चेहरे मिले।
खुशियां मिली किसी से तो, किसी से जख्म ऑंसू मिले।।
जिंदगी की डगर में मुझको—————।।

किसी ने कहकर मुझको शरीफ, मुझको लूट लिया।
किसी ने मुझको नकली बताकर, बदनाम कर दिया।।
राह में मुझको कहीं कांटें तो, कहीं फूल महके मिले।
खुशियां मिली किसी से तो, किसी से जख्म ऑंसू मिले।।
जिंदगी की डगर में मुझको————–।।

खेली मुझसे बहुत राजनीति, हमदर्द मेरा बनकर किसी ने।
मेरे सम्मान मेरी कामयाबी से, मन में जलकर किसी ने।।
किसी ने निभाया मुझसे वादा, किसी से बहुत धोखे मिले।
खुशियां मिली किसी से तो,किसी से जख्म ऑंसू मिले।।
जिंदगी की डगर में मुझको————–।।

कल जो नहीं थे मेरे करीब,अब साथी मुझको कहते हैं।
अपने स्वार्थ मतलब के लिए , साथ मुझको रखते हैं।।
किसी घर मेरा स्वागत हुआ, किसी द्वार पर धक्के मिले।
खुशियां मिली किसी से तो, किसी से जख्म ऑंसू मिले।।
जिंदगी की डगर में मुझको—————।।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला-बारां(राजस्थान)
मोबाईल नम्बर- 9571070847

Language: Hindi
Tag: गीत
203 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
प्रीति क्या है मुझे तुम बताओ जरा
प्रीति क्या है मुझे तुम बताओ जरा
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
बिल्ली की तो हुई सगाई
बिल्ली की तो हुई सगाई
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
"सुप्रभात"
Yogendra Chaturwedi
जहाँ खुदा है
जहाँ खुदा है
शेखर सिंह
3332.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3332.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
क्यों दोष देते हो
क्यों दोष देते हो
Suryakant Dwivedi
रमेशराज की वर्णिक एवं लघु छंदों में 16 तेवरियाँ
रमेशराज की वर्णिक एवं लघु छंदों में 16 तेवरियाँ
कवि रमेशराज
विराम चिह्न
विराम चिह्न
Neelam Sharma
*यह दौर गजब का है*
*यह दौर गजब का है*
Harminder Kaur
मुक्तक
मुक्तक
Yogmaya Sharma
बैठ गए
बैठ गए
विजय कुमार नामदेव
"अन्तरात्मा की पथिक "मैं"
शोभा कुमारी
न जाने क्यों अक्सर चमकीले रैपर्स सी हुआ करती है ज़िन्दगी, मोइ
न जाने क्यों अक्सर चमकीले रैपर्स सी हुआ करती है ज़िन्दगी, मोइ
पूर्वार्थ
उर्वशी की ‘मी टू’
उर्वशी की ‘मी टू’
Dr. Pradeep Kumar Sharma
वो पढ़ लेगा मुझको
वो पढ़ लेगा मुझको
Dr fauzia Naseem shad
मन में रख विश्वास,
मन में रख विश्वास,
Anant Yadav
रूह का रिश्ता
रूह का रिश्ता
Seema gupta,Alwar
Armano me sajaya rakha jisse,
Armano me sajaya rakha jisse,
Sakshi Tripathi
A Picture Taken Long Ago!
A Picture Taken Long Ago!
R. H. SRIDEVI
Being an ICSE aspirant
Being an ICSE aspirant
Sukoon
जीवन के उपन्यास के कलाकार हैं ईश्वर
जीवन के उपन्यास के कलाकार हैं ईश्वर
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
इश्क में आजाद कर दिया
इश्क में आजाद कर दिया
Dr. Mulla Adam Ali
रिश्ते चंदन की तरह
रिश्ते चंदन की तरह
Shubham Pandey (S P)
"चढ़ती उमर"
Dr. Kishan tandon kranti
आर्या कंपटीशन कोचिंग क्लासेज केदलीपुर ईरनी रोड ठेकमा आजमगढ़।
आर्या कंपटीशन कोचिंग क्लासेज केदलीपुर ईरनी रोड ठेकमा आजमगढ़।
Rj Anand Prajapati
मन की आँखें खोल
मन की आँखें खोल
Kaushal Kumar Pandey आस
*जय हनुमान वीर बलशाली (कुछ चौपाइयॉं)*
*जय हनुमान वीर बलशाली (कुछ चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
!!! सदा रखें मन प्रसन्न !!!
!!! सदा रखें मन प्रसन्न !!!
जगदीश लववंशी
■ बे-मन की बात।।
■ बे-मन की बात।।
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...