Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Feb 2024 · 1 min read

ज़िंदगी…

“उदास रहें, तो पूरी ज़िंदगी याद आएगी।
खुश रहें, तो जैसे एक नई ज़िंदगी मिल जाएगी।

मत रुको ऐ मुसाफिरों, उदास रहने के लिए।
चलते रहो यारों, खुशियों से मुलाक़ात हो जाएगी।

रुकोगे तो ज़िंदगी तड़पाएगी।
चलोगे तो ज़िंदगी हँसाएगी।

ज़िंदगी तो ज़िंदगी है, तुम्हें जीना सिखाएगी।
एक बार जीना सीख गए, तो ज़िंदगी मुस्कुराएगी।

थक गए हो, तो ज़िंदगी थोड़ी देर आराम दिलाएगी।
हार जो मान ली, तो ज़िंदगी नाराज़ हो जाएगी।

पहुंचा कर तुम्हें तुम्हारी मंज़िल तक, ये तुमसे दूर चली जाएगी।
जो आने की कोशिश करोगे इसके पास, ये तुम्हारे सिर्फ़ ख़्वाबों में चली आएगी।

वक्त-सी है ये ज़िंदगी, वापिस आ नहीं पाएगी।
बुलाओगे इसे, फिर भी नहीं आएगी।

पल-सी है ये ज़िंदगी, कुछ ही पलों की है ये ज़िंदगी!
जी लो इस पल को, वरना लापता हो जाएगी ज़िंदगी!”

– सृष्टि बंसल

2 Likes · 45 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*जब हो जाता है प्यार किसी से*
*जब हो जाता है प्यार किसी से*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मैं जान लेना चाहता हूँ
मैं जान लेना चाहता हूँ
Ajeet Malviya Lalit
"बकरी"
Dr. Kishan tandon kranti
*बेचारे वरिष्ठ नागरिक (हास्य व्यंग्य)*
*बेचारे वरिष्ठ नागरिक (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
"वीक-एंड" के चक्कर में
*Author प्रणय प्रभात*
स्वयंसिद्धा
स्वयंसिद्धा
ऋचा पाठक पंत
त्यागकर अपने भ्रम ये सारे
त्यागकर अपने भ्रम ये सारे
Er. Sanjay Shrivastava
84कोसीय नैमिष परिक्रमा
84कोसीय नैमिष परिक्रमा
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
टफी कुतिया पे मन आया
टफी कुतिया पे मन आया
Surinder blackpen
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मृत्यु शैय्या
मृत्यु शैय्या
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
*अहं ब्रह्म अस्मि*
*अहं ब्रह्म अस्मि*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"आया मित्र करौंदा.."
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
हमको इतनी आस बहुत है
हमको इतनी आस बहुत है
Dr. Alpana Suhasini
संतोष करना ही आत्मा
संतोष करना ही आत्मा
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
भारत मां की पुकार
भारत मां की पुकार
Shriyansh Gupta
अवसाद
अवसाद
Dr Parveen Thakur
अब कहाँ मौत से मैं डरता हूँ
अब कहाँ मौत से मैं डरता हूँ
प्रीतम श्रावस्तवी
Heart Wishes For The Wave.
Heart Wishes For The Wave.
Manisha Manjari
बाबू
बाबू
Ajay Mishra
" नारी का दुख भरा जीवन "
Surya Barman
इंतिज़ार
इंतिज़ार
Shyam Sundar Subramanian
मस्ती का त्योहार है,
मस्ती का त्योहार है,
sushil sarna
वीर रस की कविता (दुर्मिल सवैया)
वीर रस की कविता (दुर्मिल सवैया)
नाथ सोनांचली
2763. *पूर्णिका*
2763. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
फूल सूखी डाल पर  खिलते  नहीं  कचनार  के
फूल सूखी डाल पर खिलते नहीं कचनार के
Anil Mishra Prahari
ओ माँ मेरी लाज रखो
ओ माँ मेरी लाज रखो
Basant Bhagawan Roy
💐अज्ञात के प्रति-49💐
💐अज्ञात के प्रति-49💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कुदरत से मिलन , अद्धभुत मिलन।
कुदरत से मिलन , अद्धभुत मिलन।
Kuldeep mishra (KD)
-- मौत का मंजर --
-- मौत का मंजर --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
Loading...