Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 May 2024 · 1 min read

जवाब के इन्तजार में हूँ

#दिनांक:-5/5/2024
#शीर्षक:-जवाब के इन्तजार में हूँ।

सवालात के हवालात में कैद कर दिए गए,
बिना जुर्म जाने मुजरिम करार कर दिए गए ।
लगा ग्रहण एक अनोखे अनाम रिश्ते को,
गलतफहमी में गलत निर्णय कर लिए गए।

सहजता सरलता से मिलनसार हुए ,
दिमाग का मेल दिल बेकरार हुए।
अभिन्नता जान पडी मन को मन में,
धीरे-धीरे जीवन के सुकून करार हुए।
क्या ही कुछ हुआ इस तरह कि,
भरोसे की चरमसीमा से उतार दिए गए

याद ही नहीं फरियाद करती हूँ हर पल,
बहना चाहती हूँ अब भी तुझमें कल-कल।
कैसे बताऊँ घेरे रहता मुझे मेरा बेरंग जीवन,
अभी आशावान हूँ तुम आओगे जरूर कल!
क्या सोचकर क्यूँ चुप्पी साध गए हो ?
संतोषी बनाकर असंतोषजनक करार किए गए।

मुस्कान लौट आई थी अधरों पर यारा,
सुखद एहसास में खुद को पुनः संवारा।
हरेक गलती क्षम्य होती गई दिन-ब-दिन ,
इतना प्रभावित किया कोई होकर हमारा।
जबाव के इंतजार में हूँ अभी भी प्रियवर,
सवाल का न आना भी जवाब धार किए गए।

(स्वरचित)
प्रतिभा पाण्डेय “प्रति”
चेन्नई

Language: Hindi
2 Likes · 33 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
" संगत "
Dr. Kishan tandon kranti
लोग खुश होते हैं तब
लोग खुश होते हैं तब
gurudeenverma198
याद रखना
याद रखना
Dr fauzia Naseem shad
मां सीता की अग्नि परीक्षा ( महिला दिवस)
मां सीता की अग्नि परीक्षा ( महिला दिवस)
Rj Anand Prajapati
शुभ गगन-सम शांतिरूपी अंश हिंदुस्तान का
शुभ गगन-सम शांतिरूपी अंश हिंदुस्तान का
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मैं गीत हूं ग़ज़ल हो तुम न कोई भूल पाएगा।
मैं गीत हूं ग़ज़ल हो तुम न कोई भूल पाएगा।
सत्य कुमार प्रेमी
जब तक जेब में पैसो की गर्मी थी
जब तक जेब में पैसो की गर्मी थी
Sonit Parjapati
तुझे किस बात ला गुमान है
तुझे किस बात ला गुमान है
भरत कुमार सोलंकी
बड़े दिलवाले
बड़े दिलवाले
Sanjay ' शून्य'
मां!क्या यह जीवन है?
मां!क्या यह जीवन है?
Mohan Pandey
सरस्वती वंदना
सरस्वती वंदना
Neeraj Mishra " नीर "
!! फूलों की व्यथा !!
!! फूलों की व्यथा !!
Chunnu Lal Gupta
दिल
दिल
Neeraj Agarwal
ज़माने की नजर में बहुत
ज़माने की नजर में बहुत
शिव प्रताप लोधी
छोड़ दो
छोड़ दो
Pratibha Pandey
संतानों का दोष नहीं है
संतानों का दोष नहीं है
Suryakant Dwivedi
पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर को उनकी पुण्यतिथि पर शत शत नमन्।
पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर को उनकी पुण्यतिथि पर शत शत नमन्।
Anand Kumar
अगर मरने के बाद भी जीना चाहो,
अगर मरने के बाद भी जीना चाहो,
Ranjeet kumar patre
"दिल का हाल सुने दिल वाला"
Pushpraj Anant
मौन हूँ, अनभिज्ञ नही
मौन हूँ, अनभिज्ञ नही
संजय कुमार संजू
बेटा
बेटा
अनिल "आदर्श"
3472🌷 *पूर्णिका* 🌷
3472🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
ऐसी गुस्ताखी भरी नजर से पता नहीं आपने कितनों के दिलों का कत्
ऐसी गुस्ताखी भरी नजर से पता नहीं आपने कितनों के दिलों का कत्
Sukoon
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
सियासत में सारे धर्म-संकट बेचारे
सियासत में सारे धर्म-संकट बेचारे "कटप्पाओं" के लिए होते हैं।
*प्रणय प्रभात*
नया युग
नया युग
Anil chobisa
" मेरे प्यारे बच्चे "
Dr Meenu Poonia
*वही निर्धन कहाता है, मनुज जो स्वास्थ्य खोता है (मुक्तक)*
*वही निर्धन कहाता है, मनुज जो स्वास्थ्य खोता है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
सितारा कोई
सितारा कोई
shahab uddin shah kannauji
बिहार एवं झारखण्ड के दलक कवियों में विगलित दलित व आदिवासी-चेतना / मुसाफ़िर बैठा
बिहार एवं झारखण्ड के दलक कवियों में विगलित दलित व आदिवासी-चेतना / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
Loading...