Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Apr 2023 · 1 min read

The Saga Of That Unforgettable Pain

The waves are dying at the shore,
I want to hold your hands, this time tightly more.
Hard to see, but the wind is resting on the rock,
Like your footsteps echoing with mine at every single walk.
A fire is continuously residing silently in that tall tree,
The toxins of your longing are invisibly running in my veins, aren’t you agree?
The cloudless sky desperately wants to touch the soil through heavy rains,
Your faint fragrance is the only treasure that my soul now contains.
That rare blue orchid is blooming in the white snow,
And an epic love letter burned to ashes before anyone did ever know.
I thought that the tears were dried, but they well up once again,
The windchime is fluttering, and the emptiness is singing the saga of that unforgettable pain.

272 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Manisha Manjari
View all
You may also like:
रात का आलम था और ख़ामोशियों की गूंज थी
रात का आलम था और ख़ामोशियों की गूंज थी
N.ksahu0007@writer
3151.*पूर्णिका*
3151.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
93. ये खत मोहब्बत के
93. ये खत मोहब्बत के
Dr. Man Mohan Krishna
■ रंग (वर्ण) भेद एक अपराध।
■ रंग (वर्ण) भेद एक अपराध।
*Author प्रणय प्रभात*
अहंकार और अधंकार दोनों तब बहुत गहरा हो जाता है जब प्राकृतिक
अहंकार और अधंकार दोनों तब बहुत गहरा हो जाता है जब प्राकृतिक
Rj Anand Prajapati
वर्तमान परिदृश्य में महाभारत (सरसी)
वर्तमान परिदृश्य में महाभारत (सरसी)
नाथ सोनांचली
इतिहास गवाह है ईस बात का
इतिहास गवाह है ईस बात का
Pramila sultan
जीवन भी एक विदाई है,
जीवन भी एक विदाई है,
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
उम्मीद.............एक आशा
उम्मीद.............एक आशा
Neeraj Agarwal
कुछ दर्द झलकते आँखों में,
कुछ दर्द झलकते आँखों में,
Neelam Sharma
चुनाव 2024....
चुनाव 2024....
Sanjay ' शून्य'
आज आप जिस किसी से पूछो कि आप कैसे हो? और क्या चल रहा है ज़िं
आज आप जिस किसी से पूछो कि आप कैसे हो? और क्या चल रहा है ज़िं
पूर्वार्थ
Asman se khab hmare the,
Asman se khab hmare the,
Sakshi Tripathi
न कोई काम करेंगें,आओ
न कोई काम करेंगें,आओ
Shweta Soni
बुद्ध
बुद्ध
Bodhisatva kastooriya
भरमाभुत
भरमाभुत
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
अंतरद्वंद
अंतरद्वंद
Happy sunshine Soni
इक दिन तो जाना है
इक दिन तो जाना है
नन्दलाल सुथार "राही"
खुलेआम जो देश को लूटते हैं।
खुलेआम जो देश को लूटते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
बुंदेली दोहा प्रतियोगिता-139 शब्द-दांद
बुंदेली दोहा प्रतियोगिता-139 शब्द-दांद
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
"अजीज"
Dr. Kishan tandon kranti
आलाप
आलाप
Punam Pande
निर्णय लेने में
निर्णय लेने में
Dr fauzia Naseem shad
*सुख-दुख के दोहे*
*सुख-दुख के दोहे*
Ravi Prakash
कौन है जिम्मेदार?
कौन है जिम्मेदार?
Pratibha Pandey
कविता
कविता
Rambali Mishra
राम के नाम को यूं ही सुरमन करें
राम के नाम को यूं ही सुरमन करें
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
मूर्ख बनाकर काक को, कोयल परभृत नार।
मूर्ख बनाकर काक को, कोयल परभृत नार।
डॉ.सीमा अग्रवाल
कहा था जिसे अपना दुश्मन सभी ने
कहा था जिसे अपना दुश्मन सभी ने
Johnny Ahmed 'क़ैस'
दिलो को जला दे ,लफ्ज़ो मैं हम वो आग रखते है ll
दिलो को जला दे ,लफ्ज़ो मैं हम वो आग रखते है ll
गुप्तरत्न
Loading...