Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Sep 2021 · 1 min read

जय हिन्द जय भारत

जय हिन्द जय भारत
ये ही है अपना नारा

भारत के अनमोल रत्नों को
नमन हमारा
जहाँ पैदा हुए भीमराव जैसे
महापुरुष
ऐसा भारत देश हमारा

पुरानी कुरितीयो को समाप्त
करने का था संकल्प तुम्हारा
जय हिन्द जय भारत
ये हे अब अपना नारा
तुम्हारे संकल्पों और आदर्शो पर
चले हम सब
तब आगे बढे यह देश हमारा

सदा नमन भारत माँ के
चरणो मे
फिर से पैदा करो हे माँ
ऐसा पुत्र दुबारा
वह सम्मान हम सबको मिले
पूरी दुनिया करे गुण-गान तुम्हारा
जय हिन्द जय भारत
ये ही हे अपना नारा
swami ganganiya

426 Views
You may also like:
अब आ भी जाओ पापाजी
संदीप सागर (चिराग)
''प्रकृति का गुस्सा कोरोना''
Dr Meenu Poonia
कुछ कहना है..
Vaishnavi Gupta
बरसाती कुण्डलिया नवमी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आ ख़्वाब बन के आजा
Dr fauzia Naseem shad
नदी बन जा तू
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बरसात की छतरी
Buddha Prakash
विचार
साहित्य लेखन- एहसास और जज़्बात
शहीदों का यशगान
शेख़ जाफ़र खान
"शौर्यम..दक्षम..युध्धेय, बलिदान परम धर्मा" अर्थात- बहादुरी वह है जो आपको...
Lohit Tamta
और जीना चाहता हूं मैं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
सोलह शृंगार
श्री रमण 'श्रीपद्'
बच्चों को न बनने दें संकोची
Dr fauzia Naseem shad
बंदर भैया
Buddha Prakash
जीवन एक कारखाना है /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कोई मंझधार में पड़ा हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
दर्द की हम दवा
Dr fauzia Naseem shad
सपना आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
सोच तेरी हो
Dr fauzia Naseem shad
✍️गुरु ✍️
Vaishnavi Gupta
मुझे तुम भूल सकते हो
Dr fauzia Naseem shad
मेरी भोली ''माँ''
पाण्डेय चिदानन्द
भूखे पेट न सोए कोई ।
Buddha Prakash
भारत भाषा हिन्दी
शेख़ जाफ़र खान
पिता का दर्द
Nitu Sah
"रक्षाबंधन पर्व"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
हिन्दी साहित्य का फेसबुकिया काल
मनोज कर्ण
ये कैसा धर्मयुद्ध है केशव (युधिष्ठर संताप )
VINOD KUMAR CHAUHAN
जब भी तन्हाईयों में
Dr fauzia Naseem shad
"हैप्पी बर्थडे हिन्दी"
पंकज कुमार कर्ण
Loading...