Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Jul 2023 · 1 min read

चाहत

किसी की चाहत में हम खुद को भुला बैठे ,
होश जब आए तब इल्म़ हुआ क्या कुछ गवां बैठे ,
खुद को दीवाना बना भटकते रहे सराबों में ,
ग़म को गलत करते रहे मय़नोशी की राहों में ,
हम समझ ना सके ये अपना नसीब है ,
वो तो अपने किसी रक़ीब के क़रीब है ,
जिनकी ख़ातिर हम क़ुर्बान होकर रह गए ,
वो संग-दिल हमें ठुकरा किसी और के हो गए ।

5 Likes · 3 Comments · 260 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Shyam Sundar Subramanian
View all
You may also like:
कैसे कांटे हो तुम
कैसे कांटे हो तुम
Basant Bhagawan Roy
अपने कदमों को बढ़ाती हूँ तो जल जाती हूँ
अपने कदमों को बढ़ाती हूँ तो जल जाती हूँ
SHAMA PARVEEN
रेल यात्रा संस्मरण
रेल यात्रा संस्मरण
Prakash Chandra
सात सवाल
सात सवाल
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
लोग हमसे ख़फा खफ़ा रहे
लोग हमसे ख़फा खफ़ा रहे
Surinder blackpen
पहाड़ पर बरसात
पहाड़ पर बरसात
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"सफलता"
Dr. Kishan tandon kranti
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
फितरत
फितरत
Bodhisatva kastooriya
#शर्माजीकेशब्द
#शर्माजीकेशब्द
pravin sharma
आधार छंद - बिहारी छंद
आधार छंद - बिहारी छंद
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
(4) ऐ मयूरी ! नाच दे अब !
(4) ऐ मयूरी ! नाच दे अब !
Kishore Nigam
हे प्रभू !
हे प्रभू !
Shivkumar Bilagrami
■ अब भी समय है।।
■ अब भी समय है।।
*Author प्रणय प्रभात*
Good things fall apart so that the best can come together.
Good things fall apart so that the best can come together.
Manisha Manjari
दर्शन की ललक
दर्शन की ललक
Neelam Sharma
कोशिश करना छोरो मत,
कोशिश करना छोरो मत,
Ranjeet kumar patre
आज हम सब करें शक्ति की साधना।
आज हम सब करें शक्ति की साधना।
surenderpal vaidya
पूरी कर  दी  आस  है, मोदी  की  सरकार
पूरी कर दी आस है, मोदी की सरकार
Anil Mishra Prahari
वो कपटी कहलाते हैं !!
वो कपटी कहलाते हैं !!
Ramswaroop Dinkar
राम राम राम
राम राम राम
Satyaveer vaishnav
आस नहीं मिलने की फिर भी,............ ।
आस नहीं मिलने की फिर भी,............ ।
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
कविता(प्रेम,जीवन, मृत्यु)
कविता(प्रेम,जीवन, मृत्यु)
Shiva Awasthi
श्री राम
श्री राम
Kavita Chouhan
राधे राधे happy Holi
राधे राधे happy Holi
साहित्य गौरव
खुद से सिफारिश कर लेते हैं
खुद से सिफारिश कर लेते हैं
Smriti Singh
आँख
आँख
विजय कुमार अग्रवाल
किसी रोज मिलना बेमतलब
किसी रोज मिलना बेमतलब
Amit Pathak
संगीत........... जीवन हैं
संगीत........... जीवन हैं
Neeraj Agarwal
मायका
मायका
Mukesh Kumar Sonkar
Loading...