Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Aug 2023 · 1 min read

-: चंद्रयान का चंद्र मिलन :-

-: चंद्र यान का चंद्र मिलन:-

चंद्र धरा पर देखो हमने,
परचम है लहराया।
नमस्कार मेरे चंद्रयान को
चंद्र फतह कर आया।

चंद्रधरा को चंद्र ने छुआ तो
चंद्रलोक में चांदनी चमकी
सावन की रातों में
मीठी बरसातों में,
आनंद रूपी दामिनी दमकी

उतफुल्ल होकर चंद्र देव ने
चंद्र को चंदन चाप चढ़ाया
यान विशिष्ट है भारत से आया
कहकर अपने कंठ लगाया

मानो लगा कि ऐसे जैसे
चंदा से जाके चकोर मिली हो
विरहणी वनिता जो बरसों से विछड़ी थी।
जाके स्वामी के कंठ लगी हो

दृश्य ये ऐसा की जिसने भी देखा
नयनो में अश्रु सजल भर आए
उन्मुक्त होकर गाने लगे सब
हम तो चंद्र विजय कर आए

– पर्वत सिंह राजपूत
ग्राम सतपोन (श्यामपुर)

Language: Hindi
5 Likes · 1 Comment · 581 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"गुल्लक"
Dr. Kishan tandon kranti
सुन कुछ मत अब सोच अपने काम में लग जा,
सुन कुछ मत अब सोच अपने काम में लग जा,
Anamika Tiwari 'annpurna '
122 122 122 12
122 122 122 12
SZUBAIR KHAN KHAN
मेरा केवि मेरा गर्व 🇳🇪 .
मेरा केवि मेरा गर्व 🇳🇪 .
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
आप लोग अभी से जानवरों की सही पहचान के लिए
आप लोग अभी से जानवरों की सही पहचान के लिए
शेखर सिंह
ख्याल........
ख्याल........
Naushaba Suriya
जरुरी नहीं कि
जरुरी नहीं कि
Sangeeta Beniwal
काश
काश
लक्ष्मी सिंह
पत्नी के जन्मदिन पर....
पत्नी के जन्मदिन पर....
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
एक दिन जब न रूप होगा,न धन, न बल,
एक दिन जब न रूप होगा,न धन, न बल,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
*आई वर्षा देखिए, कैसी है सुर-ताल* (कुंडलिया)
*आई वर्षा देखिए, कैसी है सुर-ताल* (कुंडलिया)
Ravi Prakash
************ कृष्ण -लीला ***********
************ कृष्ण -लीला ***********
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
जीवन मे
जीवन मे
Dr fauzia Naseem shad
व्यस्तता
व्यस्तता
Surya Barman
2325.पूर्णिका
2325.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
सही पंथ पर चले जो
सही पंथ पर चले जो
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जब कोई आदमी कमजोर पड़ जाता है
जब कोई आदमी कमजोर पड़ जाता है
Paras Nath Jha
बेटियां!दोपहर की झपकी सी
बेटियां!दोपहर की झपकी सी
Manu Vashistha
गहरी हो बुनियादी जिसकी
गहरी हो बुनियादी जिसकी
कवि दीपक बवेजा
दीपोत्सव की हार्दिक बधाई एवं शुभ मंगलकामनाएं
दीपोत्सव की हार्दिक बधाई एवं शुभ मंगलकामनाएं
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
किताबों में तुम्हारे नाम का मैं ढूँढता हूँ माने
किताबों में तुम्हारे नाम का मैं ढूँढता हूँ माने
आनंद प्रवीण
दिल ने दिल को दे दिया, उल्फ़त का पैग़ाम ।
दिल ने दिल को दे दिया, उल्फ़त का पैग़ाम ।
sushil sarna
जय मां ँँशारदे 🙏
जय मां ँँशारदे 🙏
Neelam Sharma
■ अप्रैल फ़ूल
■ अप्रैल फ़ूल
*Author प्रणय प्रभात*
सिर्फ चलने से मंजिल नहीं मिलती,
सिर्फ चलने से मंजिल नहीं मिलती,
Anil Mishra Prahari
हिंदी सबसे प्यारा है
हिंदी सबसे प्यारा है
शेख रहमत अली "बस्तवी"
अति मंद मंद , शीतल बयार।
अति मंद मंद , शीतल बयार।
Kuldeep mishra (KD)
मतदान दिवस
मतदान दिवस
विजय कुमार अग्रवाल
मैया तेरा लाडला ये हमको सताता है
मैया तेरा लाडला ये हमको सताता है
कृष्णकांत गुर्जर
हिन्दी दोहा बिषय-चरित्र
हिन्दी दोहा बिषय-चरित्र
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Loading...