Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Aug 2023 · 1 min read

घबराना हिम्मत को दबाना है।

घबराना हिम्मत को दबाना है।
जो सूचित करता है कि आप
वक़्त के अधीन है।
परेशान ना होकर हिम्मत के
बल और गुजरे लम्हों की सीख
से कर्मठ परिश्रम से नूतन वक्त
बनाना ही कर्मवीरता की
असली पहचान है।

टी.पी.तरुण

1 Like · 217 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
View all
You may also like:
Yesterday ? Night
Yesterday ? Night
Otteri Selvakumar
तू ही हमसफर, तू ही रास्ता, तू ही मेरी मंजिल है,
तू ही हमसफर, तू ही रास्ता, तू ही मेरी मंजिल है,
Rajesh Kumar Arjun
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – आविर्भाव का समय – 02
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – आविर्भाव का समय – 02
Kirti Aphale
तेवरी का आस्वादन +रमेशराज
तेवरी का आस्वादन +रमेशराज
कवि रमेशराज
*सुनिए बारिश का मधुर, बिखर रहा संगीत (कुंडलिया)*
*सुनिए बारिश का मधुर, बिखर रहा संगीत (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
2544.पूर्णिका
2544.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
श्री गणेशा
श्री गणेशा
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
#सामयिक_कविता:-
#सामयिक_कविता:-
*Author प्रणय प्रभात*
कड़वा बोलने वालो से सहद नहीं बिकता
कड़वा बोलने वालो से सहद नहीं बिकता
Ranjeet kumar patre
मिष्ठी रानी गई बाजार
मिष्ठी रानी गई बाजार
Manu Vashistha
फिर वही शाम ए गम,
फिर वही शाम ए गम,
ओनिका सेतिया 'अनु '
बरस रहे है हम ख्वाबो की बरसात मे
बरस रहे है हम ख्वाबो की बरसात मे
देवराज यादव
"चीखें विषकन्याओं की"
Dr. Kishan tandon kranti
बुगुन लियोसिचला Bugun leosichla
बुगुन लियोसिचला Bugun leosichla
Mohan Pandey
वसुधा में होगी जब हरियाली।
वसुधा में होगी जब हरियाली।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
It is that time in one's life,
It is that time in one's life,
पूर्वार्थ
संघर्ष
संघर्ष
विजय कुमार अग्रवाल
भोर
भोर
Kanchan Khanna
*मेरी रचना*
*मेरी रचना*
Santosh kumar Miri
संविधान को अपना नाम देने से ज्यादा महान तो उसको बनाने वाले थ
संविधान को अपना नाम देने से ज्यादा महान तो उसको बनाने वाले थ
SPK Sachin Lodhi
भीनी भीनी आ रही सुवास है।
भीनी भीनी आ रही सुवास है।
Omee Bhargava
अर्पण है...
अर्पण है...
Er. Sanjay Shrivastava
भाव में,भाषा में थोड़ा सा चयन कर लें
भाव में,भाषा में थोड़ा सा चयन कर लें
Shweta Soni
प्यार आपस में दिलों में भी अगर बसता है
प्यार आपस में दिलों में भी अगर बसता है
Anis Shah
-शेखर सिंह
-शेखर सिंह
शेखर सिंह
मैं एक खिलौना हूं...
मैं एक खिलौना हूं...
Naushaba Suriya
नेह धागों का त्योहार
नेह धागों का त्योहार
Seema gupta,Alwar
समीक्ष्य कृति: बोल जमूरे! बोल
समीक्ष्य कृति: बोल जमूरे! बोल
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
पत्र गया जीमेल से,
पत्र गया जीमेल से,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ले बुद्धों से ज्ञान
ले बुद्धों से ज्ञान
Shekhar Chandra Mitra
Loading...