Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jun 2016 · 1 min read

मन बांधे कब बंधा

मन बांधे से न बंधा, ऊँची उड़े उड़ान
बाँधा जिसने है इसे, वो ही चतुर सुजान
**
लोभ करना बुरी बला,जाओगे तुम डूब
बनो सहारा दीन का, अच्छे बन इंसान
**
ज्ञानी चाहे तुम बनो, ऊंचे पद आसीन
रहिये सदा विनम्र भाव, मत कीजे अभिमान
**
त्यौहारों का देश ये, भारत जिसका नाम
संस्कृति में धनवान है, सब धर्मों की खान
**
अतिथि का सत्कार यहाँ, नहीं किसी से बैर
गौ को भी माता कहें, नदियों का सम्मान

496 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*दादा जी (बाल कविता)*
*दादा जी (बाल कविता)*
Ravi Prakash
मिलने को उनसे दिल तो बहुत है बेताब मेरा
मिलने को उनसे दिल तो बहुत है बेताब मेरा
gurudeenverma198
*चाल*
*चाल*
Harminder Kaur
इश्क़
इश्क़
हिमांशु Kulshrestha
■ रंग (वर्ण) भेद एक अपराध।
■ रंग (वर्ण) भेद एक अपराध।
*प्रणय प्रभात*
घूर
घूर
Dr MusafiR BaithA
*शब्दों मे उलझे लोग* ( अयोध्या ) 21 of 25
*शब्दों मे उलझे लोग* ( अयोध्या ) 21 of 25
Kshma Urmila
आप और हम जीवन के सच
आप और हम जीवन के सच
Neeraj Agarwal
दवाखाना  से अब कुछ भी नहीं होता मालिक....
दवाखाना से अब कुछ भी नहीं होता मालिक....
सिद्धार्थ गोरखपुरी
काफी लोगो ने मेरे पढ़ने की तेहरिन को लेकर सवाल पूंछा
काफी लोगो ने मेरे पढ़ने की तेहरिन को लेकर सवाल पूंछा
पूर्वार्थ
हमेशा..!!
हमेशा..!!
'अशांत' शेखर
जिंदगी
जिंदगी
Madhavi Srivastava
चांदनी न मानती।
चांदनी न मानती।
Kuldeep mishra (KD)
3433⚘ *पूर्णिका* ⚘
3433⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
जब मां भारत के सड़कों पर निकलता हूं और उस पर जो हमे भयानक गड
जब मां भारत के सड़कों पर निकलता हूं और उस पर जो हमे भयानक गड
Rj Anand Prajapati
তার চেয়ে বেশি
তার চেয়ে বেশি
Otteri Selvakumar
A heart-broken Soul.
A heart-broken Soul.
Manisha Manjari
दोस्ती तेरी मेरी
दोस्ती तेरी मेरी
Surya Barman
काश तुम मिले ना होते तो ये हाल हमारा ना होता
काश तुम मिले ना होते तो ये हाल हमारा ना होता
Kumar lalit
Game of the time
Game of the time
Mangilal 713
देख के तुझे कितना सकून मुझे मिलता है
देख के तुझे कितना सकून मुझे मिलता है
Swami Ganganiya
अब तो आओ न
अब तो आओ न
Arti Bhadauria
छिपी हो जिसमें सजग संवेदना।
छिपी हो जिसमें सजग संवेदना।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
ज़ब जीवन मे सब कुछ सही चल रहा हो ना
ज़ब जीवन मे सब कुछ सही चल रहा हो ना
शेखर सिंह
"पर्दा"
Dr. Kishan tandon kranti
प्यार चाहा था पा लिया मैंने।
प्यार चाहा था पा लिया मैंने।
सत्य कुमार प्रेमी
मरहटा छंद
मरहटा छंद
Subhash Singhai
World Earth Day
World Earth Day
Tushar Jagawat
अद्भुद भारत देश
अद्भुद भारत देश
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
बहुमूल्य जीवन और युवा पीढ़ी
बहुमूल्य जीवन और युवा पीढ़ी
Gaurav Sony
Loading...