Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Feb 2017 · 1 min read

गीतिका

गीतिका
मात्रा भार-१०
०००
कष्ट गलता नहीं.
ग़म पिघलता नहीं.
जुल्म के झुण्ड में.
कर्म फलता नहीं.
संगदिल आँख से,
नीर बहता नहीं.
आज अध्ययन में,
है गहनता नहीं.
युअओं में अब,
होती छमता नहीं.
‘सहज’ बिना चिंतन,
दिल बहलता नहीं.
@डॉ.रघुनाथ मिश्र ‘सहज’
अधिवक्ता /साहित्यकार.
सर्वाधिकार सुरक्षित.

1 Like · 236 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वगिया है पुरखों की याद🙏
वगिया है पुरखों की याद🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
मुक्तक...छंद-रूपमाला/मदन
मुक्तक...छंद-रूपमाला/मदन
डॉ.सीमा अग्रवाल
सब तो उधार का
सब तो उधार का
Jitendra kumar
"तलाश उसकी रखो"
Dr. Kishan tandon kranti
वक्त की जेबों को टटोलकर,
वक्त की जेबों को टटोलकर,
अनिल कुमार
बमुश्किल से मुश्किल तक पहुँची
बमुश्किल से मुश्किल तक पहुँची
सिद्धार्थ गोरखपुरी
अपनों की जीत
अपनों की जीत
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
■ आज की बात...
■ आज की बात...
*Author प्रणय प्रभात*
🌹 मैं सो नहीं पाया🌹
🌹 मैं सो नहीं पाया🌹
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
तुझे स्पर्श न कर पाई
तुझे स्पर्श न कर पाई
Dr fauzia Naseem shad
फ़ितरत
फ़ितरत
Dr.Priya Soni Khare
जो  रहते हैं  पर्दा डाले
जो रहते हैं पर्दा डाले
Dr Archana Gupta
चल सतगुर के द्वार
चल सतगुर के द्वार
Satish Srijan
*गर्मी की छुट्टियॉं (बाल कविता)*
*गर्मी की छुट्टियॉं (बाल कविता)*
Ravi Prakash
Maine jab ijajat di
Maine jab ijajat di
Sakshi Tripathi
Unlocking the Potential of the LK99 Superconductor: Investigating its Zero Resistance and Breakthrough Application Advantages
Unlocking the Potential of the LK99 Superconductor: Investigating its Zero Resistance and Breakthrough Application Advantages
Shyam Sundar Subramanian
था मैं तेरी जुल्फों को संवारने की ख्वाबों में
था मैं तेरी जुल्फों को संवारने की ख्वाबों में
Writer_ermkumar
मेरी बेटी मेरा अभिमान
मेरी बेटी मेरा अभिमान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
2586.पूर्णिका
2586.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
ईमान
ईमान
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
"निक्कू खरगोश"
Dr Meenu Poonia
बचपन की यादें
बचपन की यादें
Anamika Tiwari 'annpurna '
तुम्हीं सुनोगी कोई सुनता नहीं है
तुम्हीं सुनोगी कोई सुनता नहीं है
DrLakshman Jha Parimal
భరత మాతకు వందనం
భరత మాతకు వందనం
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
21वीं सदी और भारतीय युवा
21वीं सदी और भारतीय युवा
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
फितरत
फितरत
Srishty Bansal
बात पते की कहती नानी।
बात पते की कहती नानी।
Vedha Singh
मेरी खुशी वह लौटा दो मुझको
मेरी खुशी वह लौटा दो मुझको
gurudeenverma198
मेरी कलम
मेरी कलम
Shekhar Chandra Mitra
देव विनायक वंदना
देव विनायक वंदना
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...