Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jun 2023 · 1 min read

गीता वचन शुभ ज्ञान है

पापमोचन-तापशोषण
गीता वचन शुभ ज्ञान है,
कृष्ण की वाणी सुहानी से
सुखद मन प्राण है.
जन्म जीवन का जहां है
मौत निश्चित है वहां
मत शोक कर हे पार्थ तुम
यही सत्य है हरदम यहां.
जो आज तेरा है यहां
वो दूसरे का होगा कल
क्या खोया है तुमने यहां पर
जिसके लिए तेरा मन विकल.
जो होना है होकर रहेगा
तू व्यर्थ में चिंता न कर
कर्म ही कर्त्तव्य केवल
फल जो विधाता दे मगर.
न अतीत में न भविष्य में
जीवन अभी इसी पल में है
परिणाम की न कर आकांक्षा
कर्म से ही पथ सफल है.
आस्था न हो दूषित
ये ग्रंथ कर्म प्रधान है
दुर्दशा न हो कभी
उस वचन का जो महान है.
भारती दास ✍️

Language: Hindi
4 Likes · 4 Comments · 185 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Bharti Das
View all
You may also like:
किसी की याद में आंसू बहाना भूल जाते हैं।
किसी की याद में आंसू बहाना भूल जाते हैं।
Phool gufran
सच हकीकत और हम बस शब्दों के साथ हैं
सच हकीकत और हम बस शब्दों के साथ हैं
Neeraj Agarwal
रिश्ते
रिश्ते
Ram Krishan Rastogi
सामाजिक न्याय के प्रश्न
सामाजिक न्याय के प्रश्न
Shekhar Chandra Mitra
*सौ वर्षों तक जीना अपना, अच्छा तब कहलाएगा (हिंदी गजल)*
*सौ वर्षों तक जीना अपना, अच्छा तब कहलाएगा (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
रिश्ता
रिश्ता
अखिलेश 'अखिल'
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
*प्रणय प्रभात*
ऐ सुनो
ऐ सुनो
Anand Kumar
शक्तिहीनों का कोई संगठन नहीं होता।
शक्तिहीनों का कोई संगठन नहीं होता।
Sanjay ' शून्य'
योग
योग
लक्ष्मी सिंह
आपका स्नेह पाया, शब्द ही कम पड़ गये।।
आपका स्नेह पाया, शब्द ही कम पड़ गये।।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
नज़्म/कविता - जब अहसासों में तू बसी है
नज़्म/कविता - जब अहसासों में तू बसी है
अनिल कुमार
बदली बारिश बुंद से
बदली बारिश बुंद से
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
अपनी ही हथेलियों से रोकी हैं चीख़ें मैंने
अपनी ही हथेलियों से रोकी हैं चीख़ें मैंने
पूर्वार्थ
वो शख्स अब मेरा नहीं रहा,
वो शख्स अब मेरा नहीं रहा,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
रेत पर
रेत पर
Shweta Soni
अपनी स्टाईल में वो,
अपनी स्टाईल में वो,
Dr. Man Mohan Krishna
ख़ुद के प्रति कुछ कर्तव्य होने चाहिए
ख़ुद के प्रति कुछ कर्तव्य होने चाहिए
Sonam Puneet Dubey
प्रथम मिलन
प्रथम मिलन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
3425⚘ *पूर्णिका* ⚘
3425⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
"अमर रहे गणतंत्र" (26 जनवरी 2024 पर विशेष)
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
रफ़्ता रफ़्ता (एक नई ग़ज़ल)
रफ़्ता रफ़्ता (एक नई ग़ज़ल)
Vinit kumar
Drapetomania
Drapetomania
Vedha Singh
★किसान ★
★किसान ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
उतर चुके जब दृष्टि से,
उतर चुके जब दृष्टि से,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मन तो मन है
मन तो मन है
Pratibha Pandey
Three handfuls of rice
Three handfuls of rice
कार्तिक नितिन शर्मा
जी.आज़ाद मुसाफिर भाई
जी.आज़ाद मुसाफिर भाई
gurudeenverma198
"मोहब्बत में"
Dr. Kishan tandon kranti
अर्थार्जन का सुखद संयोग
अर्थार्जन का सुखद संयोग
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Loading...